खोज

Vatican News
प्रेरितिक राजदूत जॉनफ्रांको गैलोन और मोन्से धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष मोशे हमोंगोल प्रेरितिक राजदूत जॉनफ्रांको गैलोन और मोन्से धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष मोशे हमोंगोल  

संत पापा ने जांबिया के लिए वेंटिलेटर और मेडिकल किट भेजा

संत पापा फ्राँसिस द्वारा वर्तमान कोरोनावायरस आपातकाल में दुनिया की सबसे कमजोर आबादी की पीड़ा को कम करने के लिए दान की गई सहायता की सूची बढ़ रही है। संत पापा फ्राँसिस ने ज़ांबियाई धर्माध्यक्षीय सम्मेलन को तीन वेंटिलेटर और चिकित्सा सामग्रियां दान की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 30 मई 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फाँसिस ने जाम्बियाई धर्मध्यक्षीय सम्मेलन को तीन वेंटिलेटर और कई चिकित्सा उपकरणों को भेजा, जिसमें मास्क भी शामिल हैं। जाम्बिया और मलावी के प्रेरितिक राजदूत मोन्सिन्योर जॉनफ्रांको गैलोन ने उन्हें 25 मई को वितरित किया। पूर्वी अफ्रीका के धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों के अमेका ब्लॉग पर इसे प्रकाशित किया गया।

तीन वेटिलेटरों को लुकाका के कार्डिनल आडम मेमोरियल अस्पताल, कॉपरबेल्ट प्रांत के संत दोमिनिक मिशन अस्पताल और मुचिंगा प्रांत के चिलोंगा मिशन अस्पताल में रखा गया है। मोनसिन्योर गैलोन ने बताया कि संत पापा फ्राँसिस उन लोगों के लिए एक छोटा सा योगदान देना चाहता है जो पीड़ित हैं जिनके पास खुद से स्वस्थ होने का साधन नहीं है। संत पापा उन लोगों के बारे में चिंतित हैं जिन्होंने अपनी नौकरी खो दी है और अब उनके पास भोजन नहीं है।

 मोन्से धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष मोशे हमोंगोल ने संत पापा द्वारा भेजे गये उपकरणों को ग्रहण किया। उन्होंने जाम्बियाई धर्मध्यक्षीय सम्मेलन की ओर से संत पापा फ्राँसिस को धन्यवाद दिया और यह विश्वास दिलाया कि वेंटिलेटरों को तीन काथलिक अस्पतालों में सबसे सीरियस रोगियों के लिए उपयोग किया जाएगा। उपकरणों को ग्रहण करते समय ज़ांबिया स्वास्थ्य मंत्रालय के स्थायी सचिव केनेडी मलामा भी उपस्थित थे, जिन्होंने वर्तमान स्वास्थ्य आपातकाल में स्थानीय कलीसिया के महत्वपूर्ण योगदान को स्वीकार किया।

ज़ाम्बियन कलीसिया ने तुरंत लुसाका सरकार द्वारा लगाए गए सहायता कार्यक्रम का समर्थन किया। पिछले अप्रैल में धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने कोविद-19 की रोकथाम और बीमारों की सहायता के लिए एक विशेष कोष की स्थापना की। इसमें बुजूर्गों, मानसिक और शारीरिक विकलांग लोगों, अनाथों और सबसे वंचित लोगों की सहायता भी शामिल है। ज़ाम्बिया और मलावी प्रांत येसु समाजियों देवारा "कोविद -19 जेसुइट रिलीफ"शुरु किया गया। यह सबसे कमजोर सामाजिक समूहों को समर्थन देने का एक नया कार्यक्रम है।

अबतक जाम्बिया में कोरोना वायरस से संक्रमित कम से कम 1,057 मामले है, जिसमें 779 ठीक हो गये और 7 की मौत हो गई।

30 May 2020, 14:18