Vatican News
कैंटरबरी के महाधर्माध्यक्ष के साथ संत पापा डॉन पौल द्वितीय कैंटरबरी के महाधर्माध्यक्ष के साथ संत पापा डॉन पौल द्वितीय 

उत उन्नुम सिन्त का वर्षगाँठ एक अनोखा प्रेरितिक अवसर

संत पापा जॉन पॉल द्वितीय के विश्वपत्र "उत उन्नुम सिन्त" की 25वीं वर्षगाँठ के अवसर पर यूएससीसीवी के अध्यक्ष ने ख्रीस्तियों का आह्वान किया है कि वे अंतर-कलीसियाई एकता एवं अंतरधार्मिक वार्ता में प्रेम से हमारे भाई-बहनों तक पहुँचने के द्वारा सेतु का निर्माण करना जारी रखें।

उषा मनोरमा तिर्की- वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 26 मई 2020 (रेई)- अमरीका के धर्माध्यक्ष जोसेफ बम्बेरा ने कहा, "उत उन्नुम सिन्त" की प्रकाशना की 25वीं वर्षगाँठ हमें स्मरण दिलाये कि ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता कलीसिया का रास्ता है और सभी काथलिक, ख्रीस्तीय एकता का निर्माण करने के लिए एक दृढ़ प्रतिबद्धता व्यक्त करने हेतु बुलाये गये हैं।"

सोमवार को एक बयान जारी कर अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन में अंतर-कलीसियाई एकता एवं अंतरधार्मिक वार्ता के अध्यक्ष ने अंतर-कलीसियाई संबंध मजबूत करने हेतु संत पापा जॉन पौल द्वितीय के अथक प्रयासों की याद की, जिसको उनके उत्तराधिकारी आगे बढ़ा रहे हैं।

धर्माध्यक्ष बम्बेरा ने कहा, "हम खुश हैं कि संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें और संत पापा फ्राँसिस ने काथलिक कलीसिया एवं ख्रीस्तीय समुदायों के बीच इस एक मिशन को आगे बढ़ाया है। हम पिछले बीस-पच्चीस वर्षों के दौरान ख्रीस्तीय एकतावर्धक संवादों में खोजे गए कई ईशशास्त्रीय अभिसरण का जश्न मना रहे हैं, क्योंकि हम एक साथ बढ़ने की तलाश करते हैं।"

धर्माध्यक्ष ने गौर किया कि महामारी के समय, लोग अपने विश्वासी समुदायों में शरण और एकता की खोज कर रहे हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि उत उन्नुम सिन्त एक अनोखा प्रेरितिक अवसर प्रदान करेगा जिससे कि ख्रीस्त में सभी भाई बहनों के पास प्रेम से पहुँच कर सेतु का निर्माण करना जारी रखा जा सकेगा।  

सदियों के घावों को ठीक करने के लिए, हाल के दशकों में अंतर-कलीसियाई संवाद में लिये गए कदम की याद दिलाते हुए संत पापा फ्राँसिस ने 24 मई को ख्रीस्तीय एकता को प्रोत्साहन देने हेतु गठित परमधर्मपीठीय समिति के अध्यक्ष कार्डिनल कूर्ट कोच को एक पत्र भेजा था। अपने पत्र में संत पापा ने ख्रीस्तीय एकता की ओर अग्रसर करने हेतु उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया था, यह स्वीकार करते हुए कि उन्होंने “उन लोगों की स्वस्थ अधीरता को साझा किया है जो कभी-कभी सोचते हैं कि हमें और अधिक करना चाहिए।" साथ ही उन्होंने याद किया है कि एकता सिर्फ हमारे प्रयासों के परिणाम नहीं है बल्कि पवित्र आत्मा का वरदान है।

26 May 2020, 17:13