खोज

Vatican News
खजूर रविवार को संत पापा  फ्राँसिस संदेश देते हुए खजूर रविवार को संत पापा फ्राँसिस संदेश देते हुए 

आशा के गवाह बनने हेतु युवाओं को संत पापा का प्रोत्साहन

संत पापा फ्राँसिस ने अपने खजूर रविवार मिस्सा के अंत में मीडिया संचार के माध्यम से समारोह में भाग लेने वाले सभी विश्वासियों का विशेष रुप से युवाओं का अभिवादन किया। संत पापा ने बीमार लोगों और उनके परिवारों के लिए प्रार्थना की और उन सभी को याद किया जो आत्म-बलिदान करते हुए उनकी देखभाल करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 6 अप्रैल 2020 (वाटिकन न्यूज) : संत पेत्रुस महागिरजाघर में संत पापा फ्राँसिस ने पवित्र खजूर रविवार को मिस्सा समारोह के अंत में सभी विश्वासियों का अभिवादन किया जिन्होंने मीडिया संचार के माध्यम से समारोह में भाग लिया। संत पापा ने विशेष रुप से युवाओं को याद करते हुए कहा,“मैं विश्व के सभी युवाओं को याद करता हूँ जो आज के दिन अपने धर्मप्रांतों में विश्व युवा दिवस को अभूतपूर्व तरीके से जी रहे हैं।” 2020 का धर्मप्रांतीय विश्व दिवस, पवित्र खजूर रविवार, 5 अप्रैल को रखा गया है।

22 नवम्बर को क्रूस सौंपने की विधि

संत पापा ने कहा कि पानामा में 2019 में विश्व युवा दिवस हुआ था। 5 अप्रैल को पानामा के युवाओं द्वारा पवित्र क्रूस को लिस्बन के युवाओं को सौंपना था परंतु यह स्थगित कर दिया गया है और अब 22 नवम्बर को ख्रीस्त राजा रविवार के दिन क्रूस को सौंपने की महत्वपूर्ण विधि पूरी की जाएगी।

उन्होंने कहा, ''उस पल का इंतजार करते हुए, मैं आपसे आग्रह करता हूं कि आप युवा लोग आशा बनायें रखें। आशा और उदारता के साक्षी बनें, इस कठिन क्षण में हम सभी की एकजुटता जरूरी है।''

अंतर्राष्ट्रीय खेल दिवस

संत पापा फ्राँसिस ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने सोमवार, 6 अप्रैल को विकास और शांति के लिए अंतर्राष्ट्रीय खेल दिवस घोषित किया है। इस अवधि में कई खेल के कार्यक्रमों को निलंबित कर दिया गया है। इसके बावजूद, हम खेल के सबसे अच्छे फल "प्रतिरोध, टीम भावना, बंधुत्व" को देखने में सक्षम हैं: इसलिए, उन्होंने आग्रह किया, "एक बार फिर से शांति और विकास के लिए खेल शुरू करें।"

पवित्र सप्ताह प्रार्थना का समय

संत पापा फ्राँसिस ने सभी विश्वासियों को "पवित्र सप्ताह में येसु के दुखभोग, मरण और जी उठने की घटना पर चिंतन करते हुए अपने विश्वास की यात्रा में आगे बढ़ने हेतु आमंत्रित किया। इस वर्ष सामूहिक रुप से समारोह में भाग लेना संभव नहीं हैं परंतु संत पापा ने सभी विश्वासियों को अपने-अपने घरों में एक साथ मिलकर संचार मीडिया के माध्यम से प्रार्थना करने की हिदायत दी।

संत पापा ने कहा, आइए हम बीमार लोगों और उनके परिवार के सदस्यों के प्रति अपना आध्यात्मिक सामीप्य प्रकट करें। उन लोगों के लिए प्रार्थना करें जो निस्वार्थ भाव से बीमारों की देख-भाल कर रहे हैं। आइए, हम विश्वास के प्रकाश में मृतकों के लिए प्रार्थना करें। हर कोई हमारे दिलों में, हमारे विचारों में, हमारी प्रार्थनाओं में मौजूद है।

अंत में, संत पापा ने प्रार्थना की, हे माता मरिया "हमारे साथ चलें और हमारी आशा बनाए रखें", क्योंकि हम "येसु के साथ उस क्रूस के मार्ग पर चलते हैं जो हमें पुनरुत्थान की महिमा की ओर ले जाता है।"

06 April 2020, 16:10