खोज

Vatican News
युद्ध के कारण प्रवासण के शिकार लोग युद्ध के कारण प्रवासण के शिकार लोग  (ANSA)

युद्ध प्रभावित लोगों के लिए प्रार्थना का आह्वान

“मैं इस समाचार से दुखित हूँ की कितने ही पुरूषों, महिलाओं और बच्चों को युद्ध के कारण पलायन का शिकार होना पड़ रहा है”।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 2 मार्च 2020 (रेई) संत पापा रविवारीय देवदूत प्रार्थना के दौरान युद्ध के शिकार हो रहे लोगों के प्रति अपनी संवेदना और दुःख व्यक्त करते हुए विश्वासियों से आग्रह किया कि वे युद्ध के कारण पलायन और प्रवासन के शिकार हो रहे लोगों के लिए प्रार्थना करें।

“मैं इस समाचार से दुखित हूँ की कितने ही पुरूषों, महिलाओं और बच्चों को युद्ध के कारण पलायन का शिकार होना पड़ रहा है”।

उन्होंने उन हजारों और लाखों लोगों की चिंता की जो विश्व के विभिन्न स्थानों पर पनाह की खोज में हैं, आये दिनों ऐसे लोगों की संख्या में वृद्धि हुई है, हम उनके लिए प्रार्थना करें।”  

संत पापा द्वारा प्रार्थना की आपील ऐसे क्षणों में आयी जब हजारों की संख्या में तुर्की के लोगों प्रवासियों के रुप में ग्रीस के प्रांतों की ओर पलायन कर रहे हैं। रविवार की सुबह कुछ ही घण्टों में करीबन 500 लोग समुद्री यात्रा करते हुए यूनान के तीन द्वीपों में पहुँच गये।

संवाददाताओं ने कहा कि उत्तरी प्रांत के मुख्य शहरों में नदी पार करते हुए लोगों का समूह यूनान में प्रवेश कर रहा है जिसमें आफगानी माताएँ और बच्चे भी शामिल हैं।

तुर्की ने गुरुवार को कहा कि वह 2016 में यूरोपीय संघ के साथ हुए समझौते के बावजूद यूरोप के हजारों शरणार्थियों को अपने क्षेत्र में पहुंचने से नहीं रोक पाएगा। इसकी घोषणा के साथ ही यूरोपीय देशों की सीमाओं पर तुरंत भीड़ शुरू हो गई। 

02 March 2020, 16:55