खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

महामारी दूर करने के लिए एक साथ प्रार्थना

देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने विश्वासियों को सम्बोधित किया और उन्हें एक साथ प्रार्थना करने हेतु प्रोत्साहित किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 23 मार्च 20 (रेई) : देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने निश्वासियों को सम्बोधित कर कहा, “इस कठिन समय में, जब मानवता महामारी के भय से त्रस्त है मैं सभी ख्रीस्तियों के सामने प्रस्ताव रखता हूँ कि हम एक स्वर से प्रभु की ओर आवाज उठायें। मैं कलीसिया के सभी अधिकारियों तथा सभी ख्रीस्तीय समुदायों के नेताओं को निमंत्रण देता हूँ कि एक साथ मिलकर सर्वशक्तिमान ईश्वर को पुकारें।”

हे हमारे पिता की प्रार्थना का आह्वान

उन्होंने सभी ख्रीस्तियों को एक साथ “हे हमारे पिता” की प्रार्थना करने का प्रोत्साहन दिया। उन्होंने कहा, “मैं आप सभी को इस प्रार्थना को दिन में कई बार करने, किन्तु एक साथ बुधवार 25 मार्च को मध्याहन 12 बजे करने का निमंत्रण देता हूँ। उस दिन कई ख्रीस्तीय समुदाय माता मरियम को प्राप्त देवदूत संदेश का पर्व मनाते हैं। प्रभु अपने शिष्यों की एकजुट प्रार्थना को सुने, जो पुनर्जीवित ख्रीस्त के विजय उत्सव मनाने की तैयारी कर रहे हैं।”

उर्बी एत ओर्बी की आशीष

उन्होंने कहा, “इसी मतलब से अगले शुक्रवार 27 मार्च को शाम 6 बजे मैं संत पेत्रुस महागिरजाघर के बरमदे से, खाली प्राँगण में एक प्रार्थना का संचालन करूँगा। मैं आप सभी से आग्रह करता हूँ कि संचार माध्यमों के द्वारा आध्यात्मिक रूप से इसमें भाग लें। हम ईश वचन सुनेंगे, निवेदन चढ़ायेंगे और पवित्र संस्कार की आराधना करेंगे। इस प्रार्थना के अंत में मैं उर्बी एत ओर्बी (रोम एवं विश्व को) आशीष प्रदान करूँगा, जिसमें दण्डमोचन भी ग्रहण किया जा सकेगा।”

विभिन्न लोगों के लिए प्रार्थना

संत पापा ने कहा कि हम वायरस के इस महामारी को सर्वभौमिक प्रार्थना, करुणा और कोमलता द्वारा जवाब देंगे। अतः आइये हम एकजुट हों। संत पापा ने एकाकी और कठिनाई झेल रहे लोगों को अपना आध्यात्मिक सामीप्य प्रदान किया। उन्होंने सभी डॉक्टरों, स्वास्थ्य कर्मियों, नर्सों, स्वयंसेवकों और अधिकारियों को अपना सामीप्य प्रदान किया। उन्होंने कहा कि वे कठिन उपाय अपनाते हैं जो हमारी ही अच्छाई के लिए है। संत पापा ने पुलिस और सैनिकों की भी याद की जो रास्ते पर व्यवस्था बनाये रखते हैं ताकि सरकार द्वारा लोगों के भलाई से लिए अपनाये गये उपायों को पूरा किया जा सके। इस प्रकार संत पापा ने सभी लोगों को अपना सामीप्य प्रदान किया।

क्रोएशिया के भुकम्प पीड़ितों के लिए प्रार्थना

इसके उपरांत संत पापा ने क्रोएशिया के लोगों के प्रति सहानुभूति प्रकट की जो रविवार सुबह को आये भुकम्प से प्रभावित हैं। उन्होंने उनके लिए प्रार्थना करते हुए कहा, “पुनर्जीवित ख्रीस्त उन्हें इस आपदा का सामना करने के लिए बल एवं एकात्मता प्रदान करे।” संत पापा ने सभी को संत योहन रचित सुसमाचार पाठ के 9वें अध्याय का पाठ करने की पुनः याद दिलायी और कहा कि इसे धीरे से पढ़े, यह हमारे लिए अच्छा है।

अंत में संत पापा ने प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगल कामनाएँ अर्पित की।

23 March 2020, 13:55