खोज

Vatican News
गरीबों के लिए नये केंद्र में लोगों के साथ संत पापा गरीबों के लिए नये केंद्र में लोगों के साथ संत पापा 

संत पापा ने किया निराश्रय लोगों के लिए नये आवास का उद्घाटन

गरीबों के लिए विश्व दिवस के पूर्व संत पापा फ्राँसिस ने शुक्रवार 15 नवम्बर को आवासहीन लोगों के ठहरने के लिए एक नये केंद्र का उद्घाटन किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 16 नवम्बर 2019 (रेई)˸ नया केंद्र, संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण से कुछ ही दूरी पर वाटिकन क्षेत्र में स्थापित है। इस घर में कुछ महीनों पहले धर्मबहनें रहती थीं। संत पापा ने इस घर को परोपकार के कार्य में समर्पित करना चाहा, विशेषकर, उन लोगों के लिए जिन्हें आवास की आवश्यकता है और जो बहुत कठिन स्थिति से गुजर रहे हैं। अतः इस घर की व्यवस्था का भार परमधर्मपीठ ने संत एजिदियो समुदाय को सौंप दिया है।  

"पलात्सो मिल्योरी" में संत पापा फ्राँसिस

वाटिकन में गरीबों के लिए संत पापा की मदद कोष समिति के अध्यक्ष कार्डिनल कोनराड क्राजेवस्की ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बतलाया कि दिन और रात स्वागत के इस नये केंद्र का नाम "पलात्सो मिल्योरी" रखा गया है। मकान मालिक ने इसे सन् 1930 में वाटिकन को बेच दिया था। घर का निर्माण करीब 1800 के पहले दशक में किया गया था जिसमें बुजूर्गों एवं विकलांग लोगों के लिए काफी सुविधाएँ मौजूद हैं। पहली मंजिल पर एक बड़ा प्रार्थनालय है जो स्वयंसेवकों एवं अतिथियों की व्यक्तिगत एवं सामूहिक प्रार्थना के लिए आरक्षित है।  

सोने के कमरे तीसरे और चौथे मंजिलों में हैं जिनमें करीब 50 स्त्री पुरूष ठहर सकते हैं। ठंढ़ के दौरान ठहरने वालों की संख्या अधिक हो सकती है।

रात में ठहरने वाले सुबह को दूसरे मंजिल पर जाकर नाश्ता कर सकते हैं। वहाँ के रसोई में कुछ स्वयंसेवक एवं रोम धर्मप्रांत के स्थायी उपयाजक करीब 250 लोगों के लिए भोजन तैयार करेंगे जिन्हें शाम को विभिन्न रेलवे स्टशनों जैसे, तेरमिनी, तिबुरतिना और ऑस्तिएन्से में गरीबों को परोसा जाएगा।  

पहला और दूसरा मंजिला दिन के प्रयोग के लिए उपलब्ध किया जाएगा, जिसकी देखभाल स्वयंसेवक करेंगे। वहाँ सुनने, साक्षात्कार करने, कम्प्यूटर, अध्ययन, मनोरंजन और अन्य शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक गतविधियों के लिए भी स्थान होंगे।

वाटिकन में संत पापा द्वारा गरीबों की मदद कोष के अध्यक्ष कार्डिनल कोनराड क्राजेवस्की ने कहा कि केंद्र की देखभाल आवासहीन लोगों के द्वारा ही किया जाएगा तथा उन्हें वाटिकन द्वारा वेतन दिया जाएगा। इसके लिए संत पापा द्वारा गरीबों की मदद कोष से खर्च जाएगा। केंद्र के कार्यों के लिए संत इजिदियो समुदाय भी आर्थिक सहयोग प्रदान करेगा।  

शुक्रवार को केंद्र का उद्घाटन करते हुए संत पापा फ्राँसिस ने वहाँ उपस्थित स्वयंसेवकों एवं आवासहीन लोगों से मुलाकात की।

16 November 2019, 16:18