खोज

Vatican News
साल्वेशन आर्मी के प्रतिनिधियों के साथ संत पापा फ्राँसिस साल्वेशन आर्मी के प्रतिनिधियों के साथ संत पापा फ्राँसिस   (ANSA)

शब्दों से अधिक बुलंद है विनम्र सेवा की आवाज ˸ साल्वेशनिट से पोप

संत पापा फ्राँसिस ने 8 नवम्बर को साल्वेशन आर्मी (मुक्ति सेना दल) के प्रतिनिधियों से मुलाकात की तथा उनसे कहा कि पवित्रता, भलाई एवं एकात्मता के ठोस कार्यों में प्रकट होती है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 9 नवम्बर 2019 (रेई)˸ साल्वेशन आर्मी एक ख्रीस्तीय संगठन है जिसमें पेंतेकोस्तल ख्रीस्तीय कलीसिया एवं काथलिक कलीसिया के अंतर्राष्ट्रीय उदारता संगठन एक साथ कार्य करते हैं। विश्वभर में इसके सदस्यों की संख्या 1.7 मिलियन है। वे साल्वेशनिष्ट के नाम से भी जाने जाते हैं जिसके सदस्य मुक्ति लाने एवं जरूरत में पड़े लोगों को मानवीय सहायता प्रदान करने हेतु कार्य करते हैं। 

शुक्रवार को सदस्यों से मुलाकात करते हुए संत पापा फ्राँसिस ने उनके साक्ष्यों (मुक्ति) के लिए उनकी सराहना की, जिसमें वे शिष्यता को प्राथमिकता देते एवं गरीबों की सेवा करते हैं। उन्होंने कहा कि यह सुसमाचारी प्रेम का विश्वासनीय चिन्ह है।

विनम्र सेवा

संत पापा ने प्रतिनिधियों को बतलाया कि उन्होंने किस तरह पहली बार ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता को स्वीकार किया था, जब वे चार साल के थे और अपनी दादी के साथ साल्वेशन आर्मी के सदस्यों से मुलाकात की थी।

उन्होंने कहा, "सबसे छोटे भाई बहनों की विनम्र सेवा का उनका उदाहरण, किसी भी शब्द से अधिक बुलंद है।" संत पापा ने याद किया कि जब साल्वेशन आर्मी के पूर्व निदेशक 2014 में उनसे मिले तो उन्होंने कहा था कि "पवित्रता सांप्रदायिक घेरे के परे जाती है। पवित्रता खुद ब खुद भलाई के कार्यों, एकात्मता और चंगाई में प्रकट होती है।"   

संत पापा ने कहा कि काथलिक और साल्वेशनिस्ट आपसी सम्मान की भावना एवं पवित्र जीवन जीने के इसी आधार पर सहयोग के साथ मिलकर कार्य कर सकते हैं।

मुक्त प्रेम

सेवा हेतु प्रोत्साहन देते हुए संत पापा ने कहा कि मुक्त प्रेमपूर्ण सेवा कार्य में प्रकट होता है जो आकर्षित करता एवं यकीन दिला है। युवाओं को इस तरह के साक्ष्य की आवश्यकता है जिसको दैनिक जीवन में उन्हें सकारात्मक उदाहरण नहीं मिलता है।  

एक ऐसी दुनिया जहाँ स्वार्थ और विभाजन लाजिमी है, सच्चे आत्मत्याग के प्रेम की महान खुशबू एक जरूरी औषधि प्रदान कर सकती हैं तथा ईश्वर के लिए खुला मन और हृदय, हमारे अस्तित्व को अर्थ प्रदान कर सकता है।

सेवा और एकात्मता

अंततः संत पापा ने साल्वेशन आर्मी के प्रतिनिधियों को रोम के आवासहीनों एवं हाशिये पर जीवनयापन करने वालों की देखभाल करने हेतु धन्यवाद दिया, साथ ही साथ, मानव तस्करी के खिलाफ उन्हें संघर्ष के लिए भी अपना आभार प्रकट किया।

उन्होंने कहा, "आइये हम एक-दूसरे के लिए प्रार्थना करें और सेवा एवं एकात्मता के कार्यों द्वारा ईश्वर के प्रेम का प्रचार एक साथ करें।"

09 November 2019, 15:06