Vatican News
येसु समाजी फादर रेनजो डी लूका येसु समाजी फादर रेनजो डी लूका  (AFP or licensors)

जापान में संत पापा के व्याख्याकार, रेनजो उनके भूतपूर्व छात्र

जैसा कि जापान संत पापा फ्राँसिस का स्वागत करने की तैयारी में है, येसु समाजी फादर रेनजो डी लूका, संत पापा के साथ अपने दोस्ताना रिश्ते तथा अर्जेंटीना में एक साथ बिताये समय को याद करते हुए जापान में उनके व्याख्याकार के रूप में कार्य करने की खुशी जाहिर की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 18 नवम्बर 2019 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस 23 से 26 नवम्बर तक अपनी जापान की प्रेरितिक यात्रा के लिए अपने अनुवादक के रुप में फादर रेनजो डी लूका को मनोनीत किया है। फादर जोर्ज बेरगोलियो वर्तमान संत पापा, एक समय में रेनजो डी लूका के रेक्टर थे। फादर बनने के बाद वे मिशनरी के रुप में जापान भेजे गये। पैंतीस साल बाद, फादर रेनजो जापान में येसु समाजियों के प्रांतीय सुपीरियर हैं। वे संत पापा के संदेश को जापानी भाषा में अनुवाद करेंगे।

वाटिकन रेडियो के साथ साक्षात्कार में फादर रेनजो ने बताया कि उन्होंने गत छः सालों के दौरान संत पापा फ्राँसिस के साथ दो बार मुलाकात की। उनकी अंतिम मुलाकात वाटिकन के संत मार्था प्रेरितिक आवास में हुई। पुराने मित्रों की भांति दोनों ने आलिंगन किया।

संत पापा के संदेश के अनुवादक के रुप में उनकी प्रतिक्रिया के बारे पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "जब अनुवाद करने की बात आती है तो, "मुझे नहीं पता कि मुझे वहाँ कितना काम करना पड़ेगा। लेकिन मैं वास्तव में खुश हूँ और ऐसा करने का अवसर मिला है मैं सौभाग्यशाली हूँ। "संत पापा पूरे दौरे में अपनी मूल भाषा स्पानी में संदेश देंगे, इसलिए उनके साथ रहने का पिछला अनुभव उसी क्षण संदेश को अनुवाद करने में मददगार हो सकता है।

संत पापा की यात्रा का जापानी मीडिया कवरेज

फादर रेनजो ने कहा कि वे और अन्य काथलिक भी आश्चर्यचकित हैं कि संत पापा फ्राँसिस की प्रेरितिक यात्रा को बड़ा कवरेज मिल रहा है।

उन्होंने कहा कि साक्षात्कार के लिए उन्हें बहुत सारे अनुरोध मिले। उन्होंने और एक अन्य अर्जेंटीना जेसुइट फादर ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें 38 मीडिया के लोगों ने भाग लिया। यहां तक कि धर्मनिरपेक्ष मीडिया भी इसमें भाग लिया, जिसमें राष्ट्रीय प्रसारक एनएचके और एक राष्ट्रीय समाचार पत्र योमीरी शिंबुन भी शामिल हैं।

फादररेनजो ने कहा “इतने सारे लोग वास्तव में रुचि रखते हैं और उनके पास बहुत सारी खबरें हैं। मुझे लगता है कि संत पापा से वे बहुत अधिक उम्मीदें रखते हैं।”

उन्होंने कहा, “जापान में लोग सोच रहे हैं कि संत पापा फ्राँसिस जापान जैसे गैर-काथलिक देश से क्या कहेंगे और यह भी कि वे शांति, परमाणु ऊर्जा और परमाणु निरस्त्रीकरण के बारे में क्या कहने वाले हैं। जापान में ये विषय बहुत ही महत्वपूर्ण हैं।”

18 November 2019, 16:10