खोज

Vatican News
सन्त पापा फ्राँसिस तथा जापान के सम्राट नारुहितो- 25.11.2019 सन्त पापा फ्राँसिस तथा जापान के सम्राट नारुहितो- 25.11.2019  (ANSA)

जापान के सम्राट नारुहितो से सन्त पापा फ्राँसिस की मुलाकात

टोकियो के शाही प्रसाद में सोमवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने जापान के सम्राट नारुहितो से औपचारिक मुलाकात की। इस अवसर पर सम्राट के परिजनों एवं शाही महल के अधिकारियों ने सन्त पापा के साथ तस्वीरें खिंचवाई जिसके बाद सम्राट एवं काथलिक कलीसिया के परमाध्यक्ष के बीच लगभग 30 मिनटों तक वैयक्तिक बातचीत चली।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

टोकियो, सोमवार, 25 नवम्बर 2019 (रेई,वाटिकन रेडियो): टोकियो के शाही प्रसाद में सोमवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने जापान के सम्राट नारुहितो से औपचारिक मुलाकात की। इस अवसर पर  सम्राट के परिजनों एवं शाही महल के अधिकारियों ने सन्त पापा के साथ तस्वीरें खिंचवाई जिसके बाद सम्राट एवं काथलिक कलीसिया के परमाध्यक्ष के बीच लगभग 30 मिनटों तक वैयक्तिक बातचीत चली।  

उपहारों का आदान-प्रदान

मुलाकात के अवसर पर ही उपहारों का भी आदान-प्रदान हुआ जिसमें सन्त पापा फ्राँसिस ने सम्राट नारुहितो को रोमी कलाकार फिलिप्पो आनीवित्ति द्वारा आबरंगों में चित्रित "टाइटस के मेहराब का दृश्य" अर्पित किया।  

जापानी मीडिया ने इस बात की ओर ध्यान आकर्षित कराया कि मुलाकात के उपरान्त सम्राट ख़ुद सन्त पापा को शाही महल से बाहर छोड़ने आये जबकि अन्य खास मेहमान अपने परिचारक वर्ग के साथ ही सम्राट से विदा ले लेते हैं और सम्राट महल से बाहर नहीं निकलते हैं। विश्लेषकों का कहना है कि यह सम्राट की ओर से सन्त पापा फ्राँसिस के प्रति विशेष सम्मान का संकेत है।

सम्राट नारुहितो

सम्राट नारुहितो पहली मई, 2019 को जापान के गुलदाउदी सिंहासन पर आसीन हुए थे। उनके शासनकाल को आधिकारिक तौर पर "रेवा एरा" के रूप में जाना जाता है, जिसका अर्थ है "सुंदर सामंजस्य और समरसता"। हालांकि, सम्राट नारुहितो बौद्ध धर्म को मानने वाले हैं, उनकी माता जी महारानी मिचिको काथलिक कुल में जन्मी थीं। महारानी मिचिको की शिक्षा-दीक्षा भी काथलिक स्कूलों एवं विश्वविद्यलयों में हुई थी।

सम्राट से मुलाकात के उपरान्त टोकियो के मरियम महागिरजाघर में सन्त पापा फ्राँसिस ने युवाओं से मुलाकात की और उसके बाद टोकियो के डोम में ख्रीस्तयाग अर्पित किया।

25 November 2019, 11:59