खोज

Vatican News
आदिवासियों के साथ संत पापा आदिवासियों के साथ संत पापा  (Vatican Media)

अमाजोन सिनॉड ब्रीफिंग, आदिवासियों को आवाज और दृश्यता देना

अमाजोन पर धर्माध्यक्षीय धर्मसभा की 14वीं आमसभा सोमवार सुबह को सम्पन्न हुई, जिसकी प्रेस ब्रीफिंग में सिनॉड के चार प्रतिभागियों ने पत्रकारों के कई सवालों का उत्तर दिया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 22 अक्तूबर 2019 (रेई)˸ वाटिकन संचार विभाग के अध्यक्ष डॉ. पाओलो रूफिनी ने प्रेस ब्रीफिंग की शुरूआत की। उन्होंने इस बात की पुष्टि दी कि साओ पाओलो के पूर्व महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल क्लौदियो हुम्मेस ने सिनॉड दस्तावेज के अंतिम प्रारूप का मसौदा प्रस्तुत किया। टेक्स्ट में आमसभा एवं छोटे दलों में विचार-विमर्श किये गये सभी मुद्दों का विस्तार निहित है। इन मुद्दों में सांस्कृतिक अनुकूलन, मिशनरी और पारिस्थितिकी बदलाव भी शामिल हैं।

मारचिवाना रोड्रिगस पाईवा  

मारचिवाना रोड्रिगस पाईवा, सिनॉड में ब्राजील के अमाजोन क्षेत्र के सातेरे मावे आदिवासी समुदाय का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। उन्होंने अपने क्षेत्र में महिलाओं की सक्रिय भूमिका का जिक्र किया। उन्होंने बतलाया कि वे सिनॉड में आदिवासी लोगों के शहरी पृष्टभूमि का साक्ष्य देने आयी हैं। उनके अनुसार 35,000 आदिवासी मानुस शहर में रहते हैं। वे शहर की ओर प्रस्थान करते हैं जहाँ उन्हें भेदभाव का सामना करना पड़ता है और बहुधा वे अपने आप को अदृश्य पाते हैं।  

धर्माध्यक्ष दोमेनिको पोमपिली

धर्माध्यक्ष दोमेनिको पोमपिली इटली के रेवती से आते हैं। जहाँ 2016 में आये भूकम्प से भारी नुकसान हुआ था। करीब 250 लोगों की मौत हो गयी थी और हजारों लोग बेघर हो गये थे। पुनःनिर्माण कार्य पूरा होने में अभी भी काफी वक्त लगेगा। उन्होंने कहा कि अमाजोन घायल पृथ्वी का "प्रतीक" है। उन्होंने आर्थिक मामलों पर बहुत अधिक ध्यान दिये जाने की निंदा करते हुए कहा कि यह बड़े शहरों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों से फायदा पाना है।  

फादर दारियो बोस्सी एम.सी.सी.जे.

फादर दारियो बोस्सी एम.सी.सी.जे. ब्राजील में कोम्बोनी मिशनरियों के सुपीरियर जेनेरल हैं, जिन्होंने देश में करीब 15 साल व्यतीत किया है। उन्होंने खनिज निकाले जाने और बहुराष्ट्रीय कम्पनियों द्वारा क्षति पहुँचाये जाने पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, "उनका क्षेत्र अमाजोन के केंद्र में स्थित है जहाँ लोहे की निकासी के लिए सबसे बड़ी खुली खान है।” यह क्षेत्र 900 किलो मीटर पर फैला है तथा 100 समुदायों को पार करता है। जंगलों का उजाड़ा जाना एक अलग समस्या है क्योंकि कम्पनी ईंधन के लिए लकड़ी का प्रयोग करते हैं जिससे प्रदूषण फैलता है। उन्होंने आबादी पर 30 साल से जहरीले कचरे एवं पानी में रासायनिक तत्वों द्वारा बच्चों पर दुष्प्रभाव की बात कही।

फादर बोस्सी ने कहा कि समाधान पाने के लिए, ब्राजील के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने विभिन्न ख्रीस्तीय समुदायों के साथ सहयोग कर जागरूकता एवं प्रतिबद्धता लाने का प्रयास किया है।

कार्डिनल ख्रीस्तोफ शॉनबॉन ओ.पी.

वियेन्ना के महाधर्माध्यक्ष एवं ऑस्ट्रिया के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष कार्डिनल ख्रीस्तोफ शॉनबॉन ओ.पी. ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए बतलाया कि उन्होंने अमाजोन में दो सप्ताह व्यतीत किया और लोगों के अनुभवों को सुना। उन्होंने कहा कि अमाजोन को सिखलाने के लिए हमारे पास कुछ नहीं है बल्कि हमें समझना है कि हमारा योगदान क्या हो सकता है। सिनॉड एक अवसर है कि हम दुनिया की राजनीति में भुला दिये गये लोगों की याद कर सकें और अमाजोन क्षेत्र के लोगों की आवाज बन सकें जिनका जीवन खतरे में है।   

उन्होंने कहा कि सिनॉड में स्थायी उपयोजकों का प्रस्ताव रखा गया है जिसका उद्देश्य है उस विशाल क्षेत्र में प्रेरितिक कार्यों को सहयोग दिया जा सके। 180 स्थायी उपयाजकों की याद दिलाते हुए जो वियेन्ना महाधर्मप्रांत में सेवा देते हैं कार्डिनल ने कहा कि स्थायी उपयाजक कलीसिया के जीवन के लिए महत्वपूर्ण एवं लाभदायक है।

खान पर एक सवाल

फादर दारियो बोस्सी ने खनिज निकासी से होने वाले प्रभाव के सवाल का उत्तर देते हुए कहा कि निर्यात के लिए प्राकृतिक संसाधनों को खान से निकाला जाता है। उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया में कुछ भी टिकाऊ नहीं है। इसमें अंतर-पीढ़ी न्याय नहीं है। फादर बोस्सी ने अपने समुदाय का उदाहरण दिया जिसने इस बेरहमी को रोका और इसकी क्षतिपूर्ति की गयी। इसकी शुरूआत उन्होंने प्रदूषित क्षेत्र से दूर एक नयी बस्ती का निर्माण किया जो एक चिन्ह है कि अमाजोन समुदायों के द्वारा ही आशा प्राप्त की जा सकती है।

अधिकार का सवाल

मारचिवाना रोर्ड्रिगस पैवे ने शहरीकरण के मुद्दे पर लौटते हुए कहा कि महानगरों में अदृश्य होने का अर्थ है आदिवासियों का कोई अधिकार नहीं है।आदिवासी प्रेरितिक मिनिस्ट्री की एक महत्वपूर्ण भूमिका है जो लोगों को उन क्षेत्रों में जीविका, मदद एवं दृश्यता प्रदान करते हैं। उनकी संस्कृतिक पहचान सिर्फ उनके क्षेत्रों तक सीमित है। उनकी जमीन के बिना उनको कोई पहचान ही नहीं है।   

विकास का सवाल

मारचिवाना रोर्ड्रिगस पैवे ने विकास पर अंतिम सवाल का उत्तर दिया। उन्होंने बतलाया कि उनके लोगों की आध्यात्मिकता धरती पर केंद्रित है जहाँ से हम आते हैं। यही कारण है कि पृथ्वी के साथ हमारा गहरा संबंध है। हमारे पूर्वजों ने हजारों साल से इसकी देखभाल की है। अतः अमाजोन से जो आवाज आ रही है वह धरती माता की देखभाल करने की पुकार है।

22 October 2019, 16:42