खोज

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस आमदर्शन समारोह के दौरान वाटिकन के प्रांगण में संत पापा फ्राँसिस आमदर्शन समारोह के दौरान वाटिकन के प्रांगण में  (© Vatican Media)

उपयाजकों, पुरोहितों व धर्माध्यक्षों को संत पापा का ट्वीट संदेश

उपयाजकों, पुरोहितों एवं धर्माध्यक्षों को कलीसिया में विशेष जिम्मेदारी मिली है। यह जिम्मेदारी प्रभु की ओर से एक कृपादान के रूप में उन्हें दी गई है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 19 सितम्बर 19 (रेई)˸ उपयाजकों, पुरोहितों एवं धर्माध्यक्षों को कलीसिया में विशेष जिम्मेदारी मिली है। यह जिम्मेदारी प्रभु की ओर से एक कृपादान के रूप में उन्हें दी गई है। इस कृपादान के महत्व को अच्छी तरह नहीं समझने के कारण कई उपयाजक, पुरोहित और धर्माध्यक्ष गलती कर बैठते हैं तथा कलीसिया की सेवा करने के बजाय उसे हानि पहुँचाते हैं।

संत पापा फ्राँसिस ने कलीसिया के सभी अभिषिक्त लोगों को सम्बोधित कर ट्वीट संदेश में कहा कि वे इस मिशन को अच्छी तरह समझने और पूरा करने के लिए इस पर चिंतन करें तथा ईश्वर से प्रार्थना करें।

उन्होंने 19 सितम्बर के ट्वीट संदेश में लिखा, "यदि हम ईश्वर के कृपादान को अपनाते और उसे पेशा में बदल देते हैं तब हम ख्रीस्त की नजरों को खो देते हैं। आइये, हम प्रभु से प्रार्थना करें कि वे हमें हमारे मिशन के कृपादान की हिफाजत करने में सहायता दें।"

 

19 September 2019, 17:04