खोज

Vatican News
अमरीका में गोली-बारी के शिकार लोगों को श्रद्धांजलि देते लोग अमरीका में गोली-बारी के शिकार लोगों को श्रद्धांजलि देते लोग  (AFP or licensors)

गोली-बारी के शिकार अमेरिकी लोगों के लिए संत पापा की प्रार्थना

संत पापा फ्राँसिस ने अमेरीका में हुए गोली-बारी के शिकार लोगों के लिए प्रार्थना करते हुए उन्हें अपना आध्यात्मिक सामीप्य प्रदान किया।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन सिटी

विश्वभर विश्वासियों और तीर्थयात्रियों के साथ अपनी 04 अगस्त के रविवारीय देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने अमेरीका के टेक्सास, कैलिफोर्निया और ओहियो में हुए गोली-बारी के शिकार परिवारों और घायलों की याद की।

ओहियो में रविवार को द्वितीय मिस्सा बलिदान के दौरान हुई गोली-बारी में करीबन नौ लोगों की मौत हो गई। इसके पहले शनिवार को एल पासो, टेक्सास के बाजारी क्षेत्र में एक युवा के अंधाधुंध गोली-बारी में करीबन 20 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं शनिवार से पहले उत्तरी कैलिफोर्निया के गिलरॉय गार्लिक महोत्सव में एक 19 वर्षीय युवा ने तीन लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी, जिसमें दो बच्चे भी शामिल हैं।

रविवार को डेटन,  ओहियो में मिस्सा बलिदान के दौरान हुई गोला-बारी वर्ष 2019 में अमेरीका में हुई 22वीं सामूहिक हत्या है।

संत पापा फ्रांसिस ने कहा कि ये तीनों घटनाएं “रक्षाहीन लोगों” पर अक्रमण है। उन्होंने तीनों घटनाओं में मारे गये लोगों के लिए मौन प्रार्थना करते हुए विश्वासी समुदाय के साथ मिलकर दूत संदेश प्रार्थना की अगुवाई की।

संत पापा ने संत योहन मेरी वियेन्नी की 160वीं सालगिराह के अवसर पर उनकी याद करते हुए, उन्हें सभी पुरोहितों के लिए करुणा और अच्छाई का आदर्श घोषित किया। संत योहन मेरी वियेन्नी के पर्व को विशेष अवसर बनाते हुए संत पापा ने पुरोहितों के नाम एक विशेष पत्र प्रेषित करते हुए कहा, “मैं विश्व के सभी पुरोहितों को उनकी निष्ठा औऱ प्रेरिताई हेतु प्रोत्साहन देना चाहता हूँ जिसके लिए ईश्वर ने उन्हें निमंत्रण दिया है।” उन्होंने कहा, “यह विनम्र पुरोहित संत जो अपने लोगों के लिए पूर्णरूपेण समर्पित था, हम सबों को वर्तमान परिस्थिति में अपनी प्रेरिताई कार्य की सुन्दरता और उसके महत्व की खोज करने में मदद करे।”   

05 August 2019, 14:57