खोज

Vatican News
येसु के पवित्र हृदय के सामने संत पापा फ्राँसिस येसु के पवित्र हृदय के सामने संत पापा फ्राँसिस 

शुक्रवार को येसु के पवित्रतम हृदय का महापर्व

संत पापा फ्राँसिस ने आमदर्शन समारोह के दौरान धर्मशिक्षा देने के बाद विभिन्न देशों से आये तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों का अभिवादन किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

उन्होंने येसु के पवित्रतम हृदय के महापर्व की याद दिलाते हुए कहा, "अगले शुक्रवार को हम येसु के पवित्रतम हृदय का महापर्व मनायेंगे। मैं आप सभी को निमंत्रण देता हूँ कि उस पवित्र हृदय पर दृष्टि डालें एवं उनके सच्चे मनोभावों का अनुकरण करें।"

ग्रीष्म अवकाश के पूर्व अंतिम आमदर्शन समारोह

संत पापा ने बुधवारीय आमदर्शन समारोह में भाग लेने वाले विभिन्न दलों का अभिवादन किया। उन्होंने पौल षष्ठम सभागार में एकत्रित रोगियों का अभिवादन करते हुए कहा, "यह आमदर्शन ग्रीष्म अवकाश के पूर्व अंतिम है जिसको दो दलों में आयोजित किया गया है। बीमारों के लिए यह पौल षष्ठम सभागार में आयोजित है जो स्क्रीन पर कार्यक्रम देख रहे हैं क्योंकि इस धूप से बचने के लिए वे सभागार में हैं हम रोगी दल का अभिवादन करते हैं।"

संत पापा ने कलीसिया की पुत्रियों के धर्मसंघ, शरीरधारण की मिशनरी धर्मबहनों, बालक येसु की धर्मबहनें एवं संत जोसेफ के दिव्यदर्शन की धर्मबहनों की महासभा के प्रतिभागियों का अभिवादन किया।

पुरोहितों एवं संत पापा के लिए प्रार्थना करने का आग्रह

संत पापा ने याजकों के धर्मसंघ की सभा में भाग लेने वालों, प्रशिक्षणार्थियों, प्रशिक्षण के कोर्स में भाग लेने वालों और सुपीरियर जेनेरलों के अंतरराष्ट्रीय सभा के प्रतिभागियों का अभिवादन किया, साथ ही साथ उन्होंने जेनोवा के विश्वासियों का भी अभिवादन किया।   

उन्होंने युवाओं, वयोवृद्धों, बीमारों एवं नव दम्पतियों की विशेष रूप से याद की।

अंत में संत पापा ने सभी पुरोहितों एवं संत पापा के मिशन के लिए प्रार्थना करने का आग्रह किया।                   

26 June 2019, 15:41