Cerca

Vatican News
पनामा के तीर्थयात्रियों से मुलाकात करते संत पापा पनामा के तीर्थयात्रियों से मुलाकात करते संत पापा  (ANSA)

आपकी महानता के लिए धन्यवाद, पनामा तीर्थयात्रियों से संत पापा

संत पापा फ्राँसिस ने बृहस्पतिवार को वाटिकन में पनामा के एक तीर्थयात्री दल का स्वागत किया। उन्हें विश्व युवा दिवस के दौरान अनुभव की गयी महानता के लिए धन्यवाद दिया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 13 जून 2019 (रेई)˸ पनामा में विश्व युवा दिवस इस साल जनवरी माह में आयोजित की गयी थी जिसकी याद संत पापा के लिए अब भी ताजी है।

बृहस्पतिवार को वाटिकन में पनामा से आये तीर्थयात्रियों के एक दल से मुलाकात करते हुए संत पापा ने उन्हें विश्व युवा दिवस 2019 की सफलता के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, "एक-दूसरे को धन्यवाद देना उचित है क्योंकि यही वह शब्द है जिसको हम अक्सर भूल जाते हैं।"

पनामा वासियों की महानता

संत पापा ने तीर्थयात्रियों को दिए अपने संदेश में कृतज्ञता की भावना पर प्रकाश डाला। पनामा में अपने अनुभव की याद कर उन्होंने कहा, "मैंने वहाँ लोगों में जो भद्रता देखी उसके लिए मैं भी कृतज्ञ हूँ। भद्रता या महानता खरीदी नहीं जा सकती, यह एक विरासत है जिसको जिया जाता है। आप या तो भद्र हो सकते हैं अथवा भद्र नहीं हो सकते हैं। संत पापा ने पनामा को एक महान देश कहा जहाँ नवाचार को धर्माध्यक्षों एवं नागरिक अधिकारियों द्वारा भी तोड़ा जा सकती है। संत पापा याद करते हैं कि वहाँ के अधिकारी और यहाँ तक कि राष्ट्रपति भी लोगों के बीच जीन्स और टी शर्ट (सामान्य परिधान) में रह सकते हैं। उन्होंने कहा कि यह भद्रता लोगों सम्मान और प्यार के लिए है।

पनामा युथ डे
पनामा युथ डे

पनामा की पहचान

संत पापा ने याद किया कि खासकर, बच्चों के लिए "मिनी यूथ डे" आयोजित किया गया था। उन्होंने बच्चों को यूथ डे में शामिल किये जाने की सराहना की तथा इसे अंतरपीढ़ीय वार्ता कहा, ताकि मूल से प्रेरणा प्राप्त की जा सके, जिससे कि बच्चे विकास कर सकें। उन्होंने विचारधारा की गुलामी से सावधान रहने हेतु सचेत किया जो भद्रता को मार डालता है जबकि उन्हें सलाह दी कि वे एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी के बीच सेतु का निर्माण करें जो उनकी पहचान को बनाये रखने में मदद देगा।

पनामा का मूल

अंततः संत पापा ने तीर्थयात्रियों को स्थानीय आदिवासी लोगों के प्रति सम्मान की भावना रखने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, "नहीं" कह सकना अच्छा है, हमारे लोग यहाँ से शुरू नहीं किये, उनकी भी जड़े हैं जिन्हें शामिल किया जना चाहिए। शामिल कर पाना महानता का दूसरा चिन्ह है। संत पापा ने स्वीकार किया कि वे पनामा में बहुत खुश थे जहाँ उन्होंने कहा कि वे सामान्य रूप से सांस ले सकते थे।

उन्होंने उम्मीद जतायी कि आने वाले वर्षों में पनामा में उनके उतराधिकारियों द्वारा पुनः विश्व युवा दिवस आयोजित किया जा सकता है।

13 June 2019, 17:45