खोज

Vatican News
ससम्मान सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ससम्मान सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें 

"ससम्मान सेवानिवृत पोप" की किताब में पोप बेनेडिक्ट 16वें

रोसारियो विताले ने एक किताब लिखी है जो संत पापा के पदत्याग की कहानी पर प्रकाश डालती एवं संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें एवं संत पापा सेलेस्टीन की तुलना करती है। किताब के अंत में ससम्मान सेवानिवृत पोप बेनेडिक्ट सोलहवें की वर्तमान स्थिति पर गौर किया गया है जो इस समय वाटिकन के मातेर एक्लेसिया मठ में रहते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

"ससम्मान सेवानिवृत पोप" शीर्षक पर यह कलात्मक कार्य, संत पापा बेनेडिक्ट 16वें के परमाध्यक्ष पद से त्याग पर आधारित है, किन्तु यह उनके आध्यात्मिक सलाहकार पर भी प्रकाश डालता है जो उनका स्वागत करना और उनका मार्गदर्शन करना जानते थे। रोजारियो विताले ने एक महत्वपूर्ण अध्ययन किया है जो संत पापा बेनेडिक्ट 16वें के ऐतिहासिक एवं वैधानिक गहराई पर चिंतन करता है।  

रोम में किताब का विमोचन

किताब का विमोचन रोम में अराकने प्रकाशन द्वारा किया गया। उद्घाटन समारोह में माननीय अंद्रेया मानदेल्ली ने किताब का मोचन किया। उसके बाद पत्रकार लुका करूसो ने संत पापा बेनेडिक्ट 16वें के पदत्याग की याद पर प्रकाश डाला तथा बतलाया कि यह किस तरह समाचार बनकर पूरी दुनिया में फैल गया था।

किताब की संरचना

रोसारियो ने लेख को तीन अध्ययों में विभक्त किया है। पहले अध्याय में उन्होंने "इतिहास में संत पेत्रुस के पद के त्याग" पर प्रकाश डाला है। दूसरे अध्याय में संत पापा सेलेस्टीन पांचवें एवं संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें के बीच अंतर पर प्रकाश डाला गया है। तीसरे अध्याय में पदत्याग किये हुए संत पापा के वैधानिक स्थिति एवं पदवी का विश्लेषण किया गया।

ईश्वर की प्रजा की सेवा

तूरिन के विश्वविद्यालय में कानून के प्रोफेसर भलेरियो जिलियोत्ती की प्रस्तावना लेख ने किताब को समृद्ध किया है। लेख से पदत्याग का चित्र उभरता है जिसका जिक्र परम्परा में भी की गयी है किन्तु नवीनता का योगदान, रहस्यात्मक आयाम को प्रकट करता है।  

मुलाकात

किताब में ससम्मान सेवानिवृत संत पापा बेनेडिक्ट 16वें को प्रभु की दाखबारी में एक सरल एवं दीन सेवक के रूप में प्रस्तुत किया गया है। लेखक ने कृतज्ञता के भाव व्यक्त करते हुए कहा कि उन्हें शारीरिक तकलीफ होने के बावजूद वाटिकन वाटिका में उसे मुलाकात करने का अवसर मिला जहाँ उन्होंने उनके साथ विश्वास एवं बुलाहट पर बातें कीं। 

25 June 2019, 17:01