Cerca

Vatican News
संत पापा फ्राँसिस संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

जीवन पवित्र है क्योंकि यह ईश्वर का उपहार है, संत पापा फ्राँसिस

बुधवारीय आम दर्शन के दौरान संत पापा फ्राँसिस ने जोर देकर कहा कि जीवन का गर्भाधारण से प्राकृतिक अंत तक बचाव करना चाहिए।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 12 जून 2019 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में देश विदेश से आये तीर्थयात्रियों और विश्वासियों से मुलाकात की। बुधवारीय धर्मशिक्षा माला के उपरांत संत पापा ने पोलैंड से आये तीर्थयात्रियों का अभिवादन किया और कहा, “गत रविवार को आपने बड़ी संख्या में सड़कों पर जीवन की सुरक्षा हेतु प्रदर्शन किया। मानव जीवन को हर स्तर पर संरक्षित किया जाना चाहिए। गर्भ से लेकर बुढ़ापे तक इसका बचाव किया जाना चाहिए और जब व्यक्ति दुर्बल और बीमार होते हैं तो सेवा करनी चाहिए। जीवन को नष्ट नहीं किया जा सकता है और इसे "प्रयोग या झूठी अवधारणाओं का उद्देश्य" नहीं होना चाहिए। "जीवन पवित्र है क्योंकि यह ईश्वर का एक उपहार है।"

जीवन को हमेशा सम्मान मिले

संत पापा फ्राँसिस ने उपस्थित विश्वासियों से प्रार्थना की अपील की ताकि “मानव जीवन का हमेशा सम्मान किया जाए और परिवार जीवन की रक्षा करते हुए सुसमाचार के मूल्यों का साक्ष्य दे सके।" रविवार को पोलैंड के विभिन्न शहरों के हजारों लोगों ने "लाइफ परेड" में भाग लिया। घटना के दौरान विशेष रूप से, स्कूलों में यौन शिक्षा पर दस्तावेज़ के परिचय के विलोपन का अनुरोध किया गया था।

12 June 2019, 16:21