Vatican News
धर्माध्यक्ष मिगुएल आयुसो गुइकोट धर्माध्यक्ष मिगुएल आयुसो गुइकोट  (AFP or licensors)

परमधर्मपीठीय अंतर-धार्मिक वार्ता के नये अध्यक्ष की नियुक्ति

संत पापा फ्राँसिस ने 66 वर्षीय स्पानी धर्माध्यक्ष मिगुएल आयुसो गुइकोट को अंतर-धार्मिक वार्ता के लिए परमधर्मपीठीय सम्मेलन के नये अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 27 मई 2019 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा द्वारा नियुक्त धर्माध्यक्ष मिगुएल आयुसो गुइकोट, दिवंगत कार्डिनल जीन-लुईस तौरान के उत्तराधिकारी हैं, जिनकी जुलाई 2018 में अंतर-धार्मिक वार्ता के लिए परमधर्मपीठीय सम्मेलन के नये अध्यक्ष के रूप में मृत्यु हो गई। धर्माध्यक्ष मिगुएल अंतर-धार्मिक वार्ता के लिए परमधर्मपीठीय सम्मेलन के सचिव के रूप में अपनी सेवा दे रहे थे।

कोम्बोनी मिशनरी, इस्लाम के विशेषज्ञ

धर्माध्यक्ष मिगुएल का जन्म 17 जून 1952 को सेविले में हुआ था। येसु के हृदय के कोम्बोनी मिशनरी धर्मसंघ में उनका 20 सितंबर 1980 को पुरोहित अभिषेक हुआ।

 2002 तक वे मिस्र और सूडान में एक मिशनरी थे। उन्होंने 1982 में रोम के पोंटिफ़िकल इंस्टीट्यूट ऑफ अरबी एंड इस्लामिक स्टडीज़ में अरबी और इस्लामिक अध्ययन में डिग्री प्राप्त की और 2000 में ग्रेनेडा विश्वविद्यालय में धर्मशास्त्र में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की ।

1989 से वे इस्लाम धर्म के प्रोफेसर थे, पहले खार्तूम में, फिर काहिरा में।2002 के बाद में उन्होंने रोम के पोंटिफ़िकल इंस्टीट्यूट ऑफ अरबी एंड इस्लामिक स्टडीज़ में पढ़ाया, वहीं उन्होंने 2012 तक डीन का पद संभाला था। उन्होंने अंतर-धार्मिक वार्ता की विभिन्न बैठकों की अध्यक्षता की है।

संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें द्वारा सचिव नियुक्त

30 जून 2012 को संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने उन्हें अंतर-धार्मिक वार्ता के लिए परमधर्मपीठीय सम्मेलन का सचिव नियुक्त किया।

संत पापा फ्राँसिस ने उन्हें लुपेरसियाना का धर्माध्यक्ष नियुक्त किया, मार्च 2016 में उनका धर्माध्यक्षीय अभिषेक हुआ।

अपनी मूल भाषा स्पानी के अलावा, वे अरबी, अंग्रेजी, फ्रेंच और इतालवी भाषाएँ बोलते हैं।

27 May 2019, 17:34