Cerca

Vatican News
खजूर रविवार संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में संत पापा फ्राँसिस खजूर रविवार संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में संत पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

युवाओं से संत पापा : शांति के लिए रोजरी प्रार्थना करें

संत पापा ने युवाओं को समर्पित प्रेरितिक उद्बोधन को पढ़ने और अपना बनाने हेतु प्रेरित किया। संत पापा ने मध्य पूर्व में विशेष रूप से पवित्र भूमि में "शांति के लिए" प्रार्थना करने हेतु रोजरी माला उपहार दिया। संत पापा ने उन युवाओं को शुभकामनाएं दी, जो अपने धर्मप्रांत में विश्व युवा दिवस मनाये।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 15 अप्रैल 2019 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में करीब 50 हजार विश्वासियों के साथ खजूर रविवार समारोह का अनुष्ठान किया। आज के दिन विशेष रुप से इटली के युवा संत पापा के साथ विश्व युवा दिवस मनाने हेतु उपस्थित संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में उपस्थित थे। समारोह के अंत में संत पापा फ्राँसिस ने वहाँ उपस्थित युवाओं और विश्व भर के सभी युवाओं को बधाई दी जो अपने-अपने धर्मप्रांतों में धर्माध्यक्षों के साथ विश्व युवा दिवस मनाया।

संत पापा ने कहा, “प्रिय युवाओं, मैं आपको हाल ही में प्रकाशित प्रेरितिक उद्बोधन “क्रिस्टुस वीवित“ के पढ़ने और अपना बनाने के लिए आमंत्रित करता हूँ यह धर्मध्यक्षों की धर्मसभा का फल है जिसमें आपके बहुत से युवा साथी भी शामिल थे। इसमें आप रोजमर्रा की जिन्दगी को सार्थक रुप से जीने और अपने विश्वास को मजबूत करने तथा अपने भाइयों की सेवा हेतु उपयोगी संकेत पा सकते हैं।

संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में सभी युवाओं को संत पापा की ओर से एक रोजरी माला उपहार दिया गया। इन रोजरियों के दाने पवित्र भूमि के जैतून पेड़ की डालियों से बनाया गया था।

विश्व युवा दिवस

संत पापा ने याद दिलाया कि जैतून की लकड़ी से बने रोजरी, "पिछले साल जनवरी में पनामा के विश्व युवा सम्मेलन हेतु पवित्र भूमि में बनाए गए थे और आज का दिन उन्हें उपहार में दिया गया। संत पापा ने वहाँ उपस्थित युवाओं और सभी विश्वासियों से शांति के लिए, विशेष रूप से पवित्र भूमि और मध्य पूर्व में शांति के लिए रोजरी प्रार्थना करने की अपनी अपील को नवीनीकृत किया।

अंत में, संत पापा ने पवित्र सप्ताह को भक्ति के साथ बिताने हेतु माता मरिया से निवेदन करते हुए देवदूत प्रार्थना का पाठ किया।

15 April 2019, 16:13