खोज

Vatican News
मिस्सा के दौरान संत पापा फ्राँसिस मिस्सा के दौरान संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

आशा के सेवक स्वरुप स्वीकारने हेतु धन्यवाद, संत पापा

संत पापा फ्राँसिस ने मोरक्को की अपनी दो दिवसीय प्रेरितिक यात्रा का समापन उन सभी को धन्यवाद देते हुए किया जिन्होंने उनकी यात्रा को संभव बनाया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

राबाट, सोमवार,1 अप्रैल 2019 (वाटिकन न्यूज) : मोरक्को की राजधानी राबाट में पवित्र मिस्सा समारोह समापन के अंत में, संत पापा फ्राँसिस ने एक बार फिर "ईश्वर को धन्यवाद देने की इच्छा व्यक्त की, जिसने उन्हें इस यात्रा को सफल बनाया और वे उनके बीच, आशा के सेवक बन पाये।"

उन्होंने महामहिम राजा मोहम्मद छठे को उनके निमंत्रण के लिए धन्यवाद दिया, साथ ही प्राधिकारी वर्ग और "उन सभी लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया, जिन्होंने इस यात्रा के हर चरण में उन्हें मदद की।"

संत पापा फ्राँसिस ने राबाट और टंगेर के महाधर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मबहनों और सभी विश्वासियों को धन्यवाद दिया जो मोरक्को में "कलीसिया के जीवन और मिशन के सेवक के रूप में" मौजूद हैं और इस यात्रा की तैयारी में हर तरह से योगदान दिया है। विश्वास, आशा और दया में साझा की गई हर चीज के लिए संत पापा ने धन्यवाद दिया।

अंत में, संत पापा ने उन सभी लोगों को अपने मुस्लिम भाइयों और बहनों के साथ "वार्तालाप की राह पर कायम रहने" हेतु प्रोत्साहित किया और उन्हें आशा के सेवक बनने हेतु आग्रह किया, "हमारी दुनिया को इसकी तत्काल आवश्यकता है।"

01 April 2019, 16:30