खोज

Vatican News
ख्रीस्तयाग अर्पित करते संत पापा ख्रीस्तयाग अर्पित करते संत पापा  (ANSA)

प्रभु के कार्यों की याद आवश्यक

हम अपने माता-पिता, भाई-बहनों एवं गुरूजनों का सम्मान करते एवं उनके प्रति अपनी कृतज्ञता दिखलाते हैं क्योंकि उन्होंने हमारे जीवन में बहुत बड़ा उपकार किया है। हम उन उपकारों को कभी नहीं भूल सकते। अतः हम उनसे हमेशा जुड़े रहते और उन्हें अपना प्रेम प्रकट करने की कोशिश करते हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

ईश्वर ने हमें जीवन देकर तथा हमारी मुक्ति के लिए अपने पुत्र येसु को अर्पित कर हमें महान वरदान प्रदान किया है, फिर भी हम कई बार उन कृपादानों को भूल जाते एवं उनसे रिश्ता तोड़ लेते हैं। 

संत पापा ने कहा कि जब हम ईश्वर की कृपाओं की याद करेंगे तो हम उनके प्रति कृतज्ञ बने रहेंगे और उनकी तरह दूसरों की भलाई करने की कोशिश करेंगे।

चालीसा काल मन-परिवर्तन का समय है अतः संत पापा ने एक ट्वीट प्रेषित कर ईश्वर की कृपाओं की याद करने हेतु कृपा मांगने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने संदेश में लिखा, "चालीसा काल के आरम्भ में हमारे लिए यह अच्छा होगा कि प्रभु ने हमारे जीवन में जो किया है उसकी याद बनाये रखने के लिए कृपा की याचना करें कि उन्होंने हमें कितना अधिक प्रेम किया है।"  

07 March 2019, 17:16