खोज

Vatican News
इटालियन युवा पर्यटन केंद्र के सदस्यों के साथ संत पापा फ्राँसिस इटालियन युवा पर्यटन केंद्र के सदस्यों के साथ संत पापा फ्राँसिस  (ANSA)

दूसरों को दुनिया दिखाने में युवा पर्यटन केंद्र मददगार

संत पापा ने इटालियन युवा पर्यटन केंद्र के सदस्यों को शुभकामनाएं दी और कहा कि वे अपने नये खोजों को जारी रखें ताकि युवा यात्रियों को दुनिया के प्रति अपनी आँखें और अपने दिल खोलने में मदद कर सकें।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 23 मार्च 2019 (वाटिकन सिटी) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के संत पापा पॉल छठे सभागार में इटालियन युवा पर्यटन केंद्र के करीब 1000 सदस्यों से मुलाकात की। काथलिक एक्शन आंदोलन के युवा लोगों के एक समूह के साथ इटली के पुरोहित द्वारा स्थापित युवा पर्यटन केंद्र की 70 वीं वर्षगांठ को चिह्नित करते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने केंद्र की प्रशंसा करते हुए कहा कि इसका उद्देश्य हमारे सामाजिक परिवेश को बदलने के सपने को साकार करते हुए व्यक्ति की अभिन्न दूर दर्शिता को बढ़ावा देना है। इसे पहले से कहीं अधिक वास्तविकता में निहित होनी चाहिए और एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संदर्भ में होनी चाहिए।

युवा पर्यटन केंद्र

केंद्र का उद्देश्य सामाजिक और पर्यावरणीय मुद्दों के लिए विशेष जागरूकता के साथ स्थायी पर्यटन को बढ़ावा देना है। संत पापा ने उपस्थित लोगों को अपने मिशन में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया ताकि यात्रा के दौरान युवाओं को अपनी खुली आंखों से दुनिया को देखने, अपने हाथों से दूसरे का हाथ पकड़ते हुए,खुले दिल से अपने भाइयों और बहनों की निर्बलता को महसूस करने में मदद कर सकें।

"अभिन्न" दृष्टि की बात करते हुए, संत पापा कहा, "अभिन्नता" जिसका हम उल्लेख करते हैं वह पूर्णता के लिए नहीं, बल्कि अपूर्णता के लिए है, यह व्यक्ति की संपूर्णता को नहीं, बल्कि उसकी अपूर्णता और एक-दूसरे को पूरी तरह से समझने की आवश्यकता की याद कराता है, यह हमारे समय की समस्याओं के, विभिन्न संस्कृतियों के लोगों के साथ संपर्क बनाने और नए ज्ञान की खोज की ओर अग्रसर करता है।

धीमी गति से पर्यटन

संत पापा फ्राँसिस ने एसोसिएशन द्वारा आयोजित विभिन्न प्रकार के पर्यटन पर भी ध्यान दिया, जो उपभोक्तावाद के नियमों से प्रेरित नहीं हैं, बल्कि यात्रियों और क्षेत्र के बीच आपसी सम्मान के संदर्भ में एक मुलाकात को बढ़ावा देती है।

उन्होंने कहा कि एक "धीमी"गति का पर्यटन,  एकजुटता, गुणवत्ता और स्थिरता को बढ़ावा देने में सक्षम है।

युवाओं को ऊंची उड़ान भरने में मदद करना

संत पापा ने पर्यटन केंद्र के युवा सदस्यों को उन लोगों के लिए यात्रा के साथी बनने को कहा, जो उम्मीद खो चुके हैं, सपने देखने में असमर्थ हैं और भविष्य में उनका कोई प्रयोजन नहीं है।

उन्होंने कहा कि वे दूसरों को "ऊंची उड़ान भरने" में मदद करें। युवा लोग जो सिर्फ जीवित रहने मात्र से संतुष्ट हैं, वे वास्तव में अपना जीवन नहीं जी रहे हैं। "ऐसा लगता है जैसे वे पहले ही सेवानिवृत्त हो चुके हैं।"

विश्वास को जीयें

अंत में, संत पापा ने उपस्थित लोगों को अपनी प्रतिबद्धता को नवीनीकृत करने के लिए प्रोत्साहित किया और उन्हें गर्व के साथ अपने काथलिक विश्वास को जीने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि काथलिक होने का मतलब बाड़ के भीतर बंद होना नहीं है, लेकिन इसके विपरीत, दुनिया के लिए खुला रहना और इस तरह से जीना कि सभी की भलाई हो। आप कलीसिया के भीतर और मानव परिवार में अपने एक मिशन की पहचान बनाते हुए इस वर्षगांठ का उत्सव मनाएं।

23 March 2019, 16:38