खोज

Vatican News
रविवारीय देवदूत प्रार्थना रविवारीय देवदूत प्रार्थना  (ANSA)

संत पापा द्वारा निकारागुआ में शांति हेतु प्रार्थना की अपील

संत पापा फ्राँसिस ने निकारागुआ में सामाजिक-राजनीतिक संकट के शांतिपूर्ण समाधान हेतु आग्रह किया और उन्होंने कहा कि वे नाइजीरिया और माली में हिंसा के पीड़ितों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 25 मार्च 2019 (वाटिकन सिटी) : संत पापा फ्राँसिस ने रविवार 24 मार्च को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में देश विदेश से आये तीर्थ यात्रियों और विश्वासियों के साथ देवदूत प्रार्थना का पाठ किया। इसके उपरांत फ्रांसिस ने निकारागुआ में राजनीतिक वार्ता में शामिल मध्यस्थों से अपील की कि वे देश में व्याप्त सामाजिक-राजनीतिक संकट का शांतिपूर्ण समाधान निकालें।

संत पापा ने कहा कि "27 फरवरी से निकारागुआ गंभीर सामाजिक-राजनीतिक संकट को सुलझाने के लिए महत्वपूर्ण वार्ता कर रहा है। संत पापा ने कहा कि नये पहल के लिए वे प्रार्थना कर रहे हैं और उन्होंने "सभी के भले के लिए जल्द से जल्द एक शांतिपूर्ण समाधान खोजने हेतु" शामिल दलों को प्रोत्साहित किया।

नाइजीरिया और माली

संत पापा फ्राँसिस ने नाइजीरिया और माली में "क्रूर हिंसा" के पीड़ितों के लिए भी प्रार्थना की। शनिवार को मध्य माली में बंदूकधारियों द्वारा फुलानी जनजाति के कम से कम 134 लोगों को मार डाला गया, जबकि नाइजीरिया में फरवरी से फुलानी जनजाति के सदस्यों की कई हत्याएं हुई हैं, जहां दस हजार से अधिक लोग अपने घरों और अपनी जमीन छोड़कर भाग गए हैं। हमले हाल के दिनों में जातीय और जिहादी हिंसा से बिगड़ते क्षेत्र में सबसे घातक समय का प्रतिनिधित्व करते हैं।

संत पापा फ्राँसिस ने कहा, "ईश्वर पीड़ितों की आत्मा को ग्रहण करें, घायलों को स्वास्थ्य लाभ दें, दुखित परिवारों को सांत्वना दें और क्रूर लोगों का हृदय परिवर्तन करे।"

धन्य मारियानो मुलरेट आई सोल्डेविला

संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार 23 मार्च को स्पेन में मारियानो मुलरेट आई सोल्डेविला के धन्य घोषणा की याद करते हुए उन्हें ख्रीस्तियों का आदर्श बताया।

उन्होंने कहा कि धन्य मारियानो एक पारिवार के पिता और एक चिकित्सक थे, जिसने अपने भाइयों और बहनों की शारीरिक और नैतिक पीड़ा की देखभाल की और अपने जीवन और शहादत द्वारा दया और क्षमा की गवाही दी।

उन्होंने कहा, "हमारी कठिनाइयों और कष्टों के बावजूद प्यार और भाईचारे के रास्ते पर चलने में धन्य मारियानो हमारी मदद करें और हमारे लिए प्रार्थना करें।"

मिश्नरी शहीदों की स्मृति में दिवस

संत पापा ने 24 मार्च मिशनरी शहीदों की स्मृति दिवस को भी याद किया और कहा, "2018 के दौरान, दुनिया भर में कई धर्माध्यक्षों, पुरोहितों, धर्मबहनों और लोक धर्मियों को हिंसा का सामना करना पड़ा, जबकि चालीस मिश्नरियों को मार दिया गया था। यह पिछले वर्षों की तुलना में लगभग दोगुना है।"

संत पापा ने कहा कि उन मिशनरियों के प्रति कृतज्ञ होना "पूरी कलीसिया का कर्तव्य" है, जो येसु पर विश्वास करने के कारण सताए गए या मार डाले गए हैं। वे हमें उस मसीह में अपने विश्वास और आशा बनाये रखने हेतु प्रोत्साहन देते हैं, जिसने क्रूस पर अपने प्यार द्वारा नफरत और हिंसा को हमेशा के लिए हराया।"

25 March 2019, 15:18