खोज

Vatican News
मोनाको की रियासत की राष्ट्रीय परिषद के प्रतिनिधियों मोनाको की रियासत की राष्ट्रीय परिषद के प्रतिनिधियों   (Vatican Media)

विश्व के निवासी होने के नाते उसके भविष्य के लिए सभी जिम्मेदार

संत पापा फ्राँसिस ने मोनाको की रियासत की राष्ट्रीय परिषद के 24 प्रतिनिधियों से मुलाकात की तथा याद किया कि अविश्वास एवं तिरस्कार के समय में लोगों एवं राष्ट्रों के बीच संबंध स्थापित करना अति आवश्यक है ताकि वे विश्व के निवासी, देश के नागरिक एवं भविष्य के निर्माता के रूप में अपनी जिम्मेदारी को महसूस कर सकें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

संत पापा ने उन्हें सम्बोधित कर कहा, "अविश्वास एवं स्वार्थ तथा कभी-कभी बहिष्कार में भी बढ़ते समय यह आवश्यक है कि लोगों एवं राष्ट्रों के बीच संबंध जोड़ा जाए ताकि सभी विकास कर सकें तथा विश्व के निवासी होने, देश के नागरिक एवं भविष्य के निर्माता होने की जिम्मेदारी को सहर्ष महसूस कर सकें।

मोनाको के सांसद द्वारा परमधर्मपीठ के काम का अध्ययन

महाधर्माध्यक्ष बर्नार्ड सिजर अगुस्टीन बारसी के साथ मोनाको के सांसद अध्ययन हेतु एक यात्रा पर हैं। इस यात्रा का मकसद है कि वे परमधर्मपीठ में होने वाले कार्यों का अध्ययन। संत पापा ने कहा कि उनकी खोज तथा परमधर्मपीठ के कार्य दोनों ही में समर्पण की आवश्यकता है।

विश्व शांति दिवस पर अपने संदेश का स्मरण दिलाते हुए उन्होंने कहा कि अच्छी नीति की आवश्यकता से शुरू करते हुए जो नागरिकों एवं मानव संसाधन के निर्माण हेतु एक आधारभूत वाहन है, यह मानव समुदाय की सेवा है।

सार्वजनिक सेवा के लिए एक साथ काम करना

संत पापा ने प्रतिनिधियों को प्रोत्साहन दिया कि वे सार्वजनिक भलाई के लिए, बिना रूके अपने कार्य को जारी रखें। नागरिकों के भविष्य को हमेशा बढ़ावा दें, खासकर, मानव मूल्यों का सम्मान करने के द्वारा अर्थात् मानव प्रतिष्ठा तथा हरेक व्यक्ति के जीवन की गरिमा एवं रियासत के संस्थानों का सम्मान करते हुए।

पर्यावरण एवं बढ़ते वैश्विक तापमान को रोकने हेतु समर्पण

मुलाकात के दौरान संत पापा ने याद किया कि पर्यावरण की सेवा हेतु समर्पण की मोन्ते कार्लो की एक लम्बी और सुन्दर परम्परा है, विशेषकर, मोनाको फाऊँडेशन अर्बेर्तो द्वितीय। उन्होंने कहा कि इस समय की नई चुनौतिया हैं वैश्विक तापमान में बृद्धि तथा इसके नकारात्मक परिणाम। उन्होंने इसके समाधान के लिए काथलिक एवं अन्य ख्रीस्तीयीय समुदायों और स्वयं सेवकों को एक-दूसरे के साथ सहयोग करने हेतु प्रोत्साहन दिया।    

02 February 2019, 15:48