खोज

Vatican News
प्रार्थना की प्रेरिताई के लिए अंतरराष्ट्रीय निदेशक फादर फोरनोस को प्रस्तुत करते संत पापा प्रार्थना की प्रेरिताई के लिए अंतरराष्ट्रीय निदेशक फादर फोरनोस को प्रस्तुत करते संत पापा  (ANSA)

कोलोम्बिया एवं भूमध्यसागर के लिए संत पापा की प्रार्थना

देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा ने दुखद परिस्थितियों में पड़े लोगों की याद की तथा उन्हें सम्बोधित कर अपना आध्यात्मिक सामीप्य प्रदान किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

संत पापा ने विशेष रूप से कोलोम्बिया में हुए आक्रमण एवं भूमध्यसागर में डूबने वाले लोगों की याद कर कहा, "आज मेरे हृदय में दो बातों का दुःख है कोलोम्बिया एवं भूमध्यसागर का।" उन्होंने कहा, राष्ट्रीय पुलिस प्रशिक्षण केंद्र पर विगत बृहस्पतिवार को उस भयंकर आतंकी हमले के बाद मैं कोलोम्बिया के लोगों के प्रति अपना आध्यात्मिक सामीप्य प्रकट करता हूँ। मैं इसके शिकार लोगों एवं उनके परिवारों के लिए प्रार्थना करता हूँ। मैं कोलोम्बिया में शांति की कामना करता हूँ।   

संत पापा ने पनामा में अपनी प्रेरितिक यात्रा का स्मरण दिलाते हुए कहा, कुछ ही दिनों बाद मैं पनामा के लिए प्रस्थान करूँगा, जहाँ 22 से 27 जनवरी तक विश्व युवा दिवस सम्पन्न होगा। मैं आप से आग्रह करता हूँ कि कलीसिया के रास्ते पर, इस सुन्दर और महत्वपूर्ण अवसर के लिए आप प्रार्थना करें।  

संत पापा ने कहा, "इस सप्ताह विश्व संचार दिवस का संदेश प्रकाशित किया जाएगा जिसमें इस वर्ष की विषयवस्तु पर चिंतन किया गया है। इंटरनेट एवं सामाजिक संचार माध्यम हमारे समय के संसाधन है, यह दूसरों के साथ जुड़े रहने, अपने मूल्यों एवं योजनाओं को साझा करने तथा एक समुदाय बनाने की इच्छा को व्यक्ति करने का अवसर प्रदान करता है। नेटवर्क हमें समुदाय में एक साथ प्रार्थना करने का भी अवसर देता है।"

यही कारण है कि फादर फोरनोस मेरे साथ हैं वे प्रार्थना की प्रेरिताई के लिए अंतरराष्ट्रीय निदेशक हैं। मैं आपको संत पापा की विश्वव्यापी प्रार्थना नेटवर्क से अवगत कराना चाहता हूँ। "क्लिक टू प्रे" में मैं अपना निवेदन रखता हूँ तथा कलीसिया के मिशन के लिए प्रार्थना की मांग करता हूँ।

मैं खासकर, युवाओं को निमंत्रण देता हूँ कि वे इस ऐप को डाउनलोड करें, और मेरे साथ शांति की रोजरी की प्रार्थना करते रहें, विशेषकर, पनामा में विश्व युवा दिवस के दौरान।

प्रथम अंतरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस की स्थापना जो अमरीका द्वारा मानव एवं समाज के विकास हेतु शिक्षा की महत्वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डालने के लिए की गयी है, उसे 24 जनवरी को मनाया जाएगा। इस आधार पर मैं विश्व में शांति को बढ़ावा देने हेतु यूनेस्को के प्रयास को प्रोत्साहन देता हूँ तथा उम्मीद करता हूँ कि सभी को शिक्षा का अवसर मिले और यह विचारधारा के उपनिवेशवाद से पूरी तरह मुक्त हो। सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं को उनके सुकार्यों के लिए शुभकामनाएँ।  

इसके बाद संत पापा ने देश-विदेश से आये सभी तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों का अभिवादन किया। अंत में, उन्होंने प्रार्थना का आग्रह करते हुए सभी को शुभ रविवार की मंगल कामनाएँ अर्पित की।

21 January 2019, 14:46