खोज

Vatican News
सन्त ऑस्कर रोमेरो का पोस्टर प्रदर्शित करते पनामा के युवा सन्त ऑस्कर रोमेरो का पोस्टर प्रदर्शित करते पनामा के युवा  (ANSA)

ऑस्कर रोमेरो केन्द्रीय अमरीका के आदर्श, सन्त पापा फ्राँसिस

सन्त ऑस्कर रोमेरो को केन्द्रीय अमरीका के काथलिकों का आदर्श निरूपित कर गुरुवार को सन्त पापा फ्रांसिस ने पनामा के सन्त फ्राँसिस असीसी महागिरजाघर में काथलिक धर्माध्यक्षों से मुलाकात की। महागिरजाघर में उन्होंने स्मरण दिलाया कि जिस प्रकार प्रभु येसु मसीह ने स्वतः को हमारे लिये खाली कर दिया था उसी प्रकार एल साल्वाडोर के महाधर्माध्यक्ष और सन्त ऑस्कर रोमेरो ने भी स्वतः को खाली कर दिया था।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

पनामा सिटी, शुक्रवार, 25 जनवरी 2019 (रेई, वाटिकन रेडियो): सन्त ऑस्कर रोमेरो को केन्द्रीय अमरीका के काथलिकों का आदर्श निरूपित कर गुरुवार को सन्त पापा फ्रांसिस ने पनामा के सन्त फ्राँसिस असीसी महागिरजाघर में काथलिक धर्माध्यक्षों से मुलाकात की. महागिरजाघर में उन्होंने स्मरण दिलाया कि जिस प्रकार प्रभु येसु मसीह ने स्वतः को हमारे लिये खाली कर दिया था उसी प्रकार एल साल्वाडोर के महाधर्माध्यक्ष और सन्त ऑस्कर रोमेरो ने भी स्वतः को खाली कर दिया था.

ख़ुद को खाली करें

सन्त पापा ने कहा कि सन्त ऑस्कर रोमेरो प्रायः ग्रीक भाषा के "केनोसिस" शब्द का प्रयोग करते रहे थे जिसका अर्थ है स्वतः को खाली कर देना. उन्होंने कहा कि कलीसियाई नेताओं से भी अनुरोध किया जाता है कि वे सन्त ऑस्कर रोमेरो के पद चिन्हों पर चलकर केन्द्रीय अमरीका के जनकल्याण और, विशेष रूप से, युवाओं को मार्गदर्शन देने के लिये ख़ुद को खाली कर दें. सन्त पापा ने कहा कि कलीसिया को एक विनीत और अकिंचन कलीसिया बनना होगा तब ही वह भु्रभु ख्रीस्त को लोगों के समक्ष प्रस्तुत करने में सक्षम बन सकेगी. इसके लिये ज़रूरी है कि कलीसियाई संसाधन एवं प्रभाव स्वतः के लिये नहीं अपितु लोगों के हित में प्रयुक्त किये जायें. 

ग़ौरतलब है कि एल साल्वाडोर में सान साल्वाडोर के महाधर्माध्यक्ष ऑस्कर रोमेरो की मिस्सा बलिदान अर्पित करते समय इसलिये हत्या कर दी क क कि उन्होंने तत्कालीन सरकार की आलोचना की थी.  

वर्तमान युग के चिन्हों को पहचानें

सन्त पापा फ्राँसिस 34 वे विश्व युवा दिवस के लिये पनामा की प्रेरितिक यात्रा कर रहे हैं जहाँ लगभग दो लाख युवा उनका सन्देश सुनने के लिये एकत्र हुए हैं. सन्त पापा के साक्षात्कार हेतु पनामा के ही नहीं अपितु कॉस्टा रिका, एल साल्वाडोर, ग्वाटेमाला, हॉड्यूराज़ तथा निकारागुआ के धर्माध्यक्ष भी मौजूद थे. काथलिक धर्माध्यक्षों से सन्त पापा ने आग्रह किया कि वे युवाओं के पिता, सखा और भाई बनें. यथार्थ मार्गदर्शक बनने के लिये वर्तमान युग के चिन्हों को पहचानें, आप्रवासियों की व्यथा को समझें क्योंकि अधिकांश आप्रवासियों का चेहरा युवा चेहरा है जो निडरता के साथ अपना सर्वस्व पीछे छोड़ नवीन दिशाओं की खोज में निकल पड़े हैं.

25 January 2019, 11:51