Cerca

Vatican News
मनिला का एक अपंग व्यक्ति मनिला का एक अपंग व्यक्ति  (ANSA)

संत पापा फ्राँसिस का 9 और 10 दिसम्बर का ट्वीट संदेश

अंतरराष्‍ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर संत पापा ने ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ रचना का आदर और सम्मान करने हेतु आहृवान किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 10 दिसम्बर 2018 (रेई) : हर इंसान को जिंदगी, आजादी, बराबरी और सम्मान का अधिकार ही मानवाधिकार है। इन अधिकारों को पहचान देने और उसके हक की लड़ाई को ताकत देने के लिए हर साल 10 दिसंबर को अंतरराष्‍ट्रीय मानवाधिकार दिवस मनाया जाता है।

अंतरराष्‍ट्रीय मानवाधिकार दिवस के अवसर पर संत पापा फ्राँसिस ने अपने ट्वीट संदेश में लिखा,“प्रत्येक मनुष्य ईश्वर के प्रतिरुप और सदृश बनाया गया है। वह अपने आप में मूल्यवान है और उसके अधिकार अपरिहार्य हैं।”

संत पापा फ्राँसिस ने आगमन के दूसरे रविवार 9 दिसम्बर के ट्वीट संदेश में लिखा,“आगमन हमारे जीवन के खालीपन को पहचानने और उसे भरने का समय है, अपने जीवन में घमंड के तेज धार को चिकना करने का समय है और अपने हृदय में येसु के लिए स्थान बनाना है, जो जल्द ही आने वाले हैं।”  

10 December 2018, 16:34