Cerca

Vatican News
World Disabled Day World Disabled Day  (ANSA)

संत पापा का 2 और 3 दिसम्बर के ट्वीट संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने 2 फरवरी आगमन के प्रथम रविवार और अंतरराष्ट्रीय दासता उन्मूलन दिवस पर तथा 3 फरवरी ‘विश्व विकलांग दिवस’ के अवसर पर ट्वीट संदेश प्रेषित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार, 3 दिसम्बर 2018 (रेई): काथलिक कलीसिया रविवार 2 दिसम्बर को पंचांग के आगमन काल में प्रवेश करती है। यह प्रभु येसु के आगमन हेतु उनके स्वागत में खुद को तैयार करने का समय है।

इस अवसर पर संत पापा ने अपने ट्वीट संदेश में लिखा, “आगमन काल प्रभु का स्वागत करने का समय है जो हमसे मुलाकात करने आ रहे हैं। यह समय आगे देखने एवं पभु की वापसी के लिए खुद को तैयार करने का अवसर है।

अंतरराष्ट्रीय दासता उन्मूलन दिवस

2 दिसंबर को ‘अंतरराष्ट्रीय दासता उन्मूलन दिवस’ विश्व भर में मनाया गया। संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा ‘अंतरराष्ट्रीय दासता उन्मूलन दिवस’ मनाने का उद्देश्य “दासता के समकालीन स्वरूपों जैसे-व्यक्तियों की तस्करी, यौन शोषण, बालश्रम के सबसे खराब तरीके, जबरन शादी, सशस्त्र संघर्ष में इस्तेमाल के लिए बच्चों की जबरन भर्ती का उन्मूलन” करना है।

इस अवसर पर संत पापा ने अपने संदेश में लिखा,“ हमें आज भेदभाव का पर्दा उठाना है जो पीड़ित लोगों के भाग्य पर भारी पड़ता है। आज की दासता की दुःखद वास्तविकता के सामने कोई भी अपना हाथ धो नहीं सकता।”

विश्व विकलांग दिवस

3 दिसंबर आज विश्व विकलांग दिवस है। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य शारीरिक रुप से अक्षम लोगों को समाज की मुख्यधारा में जोड़ना। साथ ही उनके साथ भेदभाव की भावना को जड़ से खत्म करना है।

विश्व विकलांग दिवस के अवसर पर संत पापा ने अपने संदेश में लिखा,“ जैसे ही अक्षम और पीड़ित लोग दूसरों के प्यार को पाते हैं वैसे ही वे अपने को जीवन को फिर से खोलने लगते हैं! मुस्कुराहट रुपी औषधि हृदय में प्रेम की धारा बहाती है!”  

03 December 2018, 16:28