Cerca

Vatican News
मिनोरी महाधर्मप्रांत के सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष मारियो जोर्दाना मिनोरी महाधर्मप्रांत के सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष मारियो जोर्दाना  

परमधर्मपीठीय संत प्रकरण परिषद के नये सदस्य की नियुक्ति

प्रेरितिक राजदूत एवं मिनोरी धर्मप्रांत के सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष मारियो जोर्दाना परमधर्मपीठीय संत प्रकरण परिषद के नये सदस्य नियुक्त हुए।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी  

वाटिकन सिटी, शनिवार 15 दिसम्बर 2018 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार 15 दिसम्बर को परमधर्मपीठीय संत प्रकरण परिषद के नये सदस्य के रुप में मिनोरी महाधर्मप्रांत के सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष मारियो जोर्दाना को नियुक्त किया।

महाधर्माध्यक्ष मारियो जोर्दाना का जन्म इटली पियेमोन्ते के बार्ज शहर में हुआ। सालाज़ो धर्मप्रांत के प्रंतीय पुरोहित को रुप में 25 जून 1967 को उनका पुरोहिताभिषेक हुआ।

उन्होंने परमधर्मपीठीय उपशास्त्रीय अकादमी में प्रवेश किया और परमधर्मपीठ की राजनयिक सेवा में भाग लिया।

27 अप्रैल 2004 को उन्हें संत पापा जॉन पॉल द्वितीय ने हैती का प्रेरितिक राजदूत  नियुक्त किया।  बाद में उन्हें इटली स्थित मिनोरी महाधर्मप्रांत के महाधर्माधर्माध्यक्ष नियुक्त किया गया।  

29 मई 2004 को कार्डिनल अंजेलो सुदानो द्वारा पावलो रोमियो और जुसेप्पे गुरिनी के साथ उनका धर्माध्यक्षीय अभिषेक हुआ।  

15 मार्च 2008 को, संत पापा बेनेदिक्त सोलहवें ने उन्हें स्लोवाकिया के प्रेरितिक राजदूत नियुक्त किया।

1 अप्रैल 2017 को,  संत पापा फ्राँसिस ने उम्र सीमा को देखते हुए उनके इस्तीफा को स्वीकार कर लिया। उन्होंने 4 अक्टूबर को उन्हें लोकधर्मियों की प्रेरिताई हेतु बनी परमधर्मपीठीय धर्मसंघ का सदस्य नियुक्त किया।

15 December 2018, 15:59