बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
पुरोहितों एवं धर्माध्यक्षों के साथ सन्त पापा फ्राँसिस पालेरमो में पुरोहितों एवं धर्माध्यक्षों के साथ सन्त पापा फ्राँसिस पालेरमो में  (AFP or licensors)

24 घण्टे ईश्वर का व्यक्ति है पुरोहित, सन्त पापा फ्राँसिस

"पुरोहित बलिदान, दया एवं क्षमा का व्यक्ति है और ईश वचन का समारोह मनाना उसका जीवन है। जीवन और धर्मविधि अलग-अलग पटरियों पर नहीं जा सकती। पुरोहित हर क्षण, 24 घण्टे ईश्वर का व्यक्ति है, वह उस समय पवित्र नहीं होता जब वह पौरोहित्य परिधान धारण करता है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

पालेरमो, शनिवार, 15 सितम्बर 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): पालेरमो के महागिरजाघर में शनिवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने महाधर्मप्रान्त के पुरोहितों, धर्मसमाजियों और धर्मसंघियों के लिये प्रार्थना सभा की अध्यक्षता की तथा प्रवचन किया.  

24 घण्टे ईश्वर का व्यक्ति है पुरोहित

इस अवसर पर सन्त पापा ने कहा, "पुरोहित बलिदान, दया एवं क्षमा का व्यक्ति है और ईश वचन का समारोह मनाना उसका जीवन है. जीवन और धर्मविधि अलग-अलग पटरियों पर नहीं जा सकती. पुरोहित हर क्षण, 24 घण्टे ईश्वर का व्यक्ति है , उस समय पवित्र नहीं होता जब वह पुरोहित का परिधान धारण करता है. पुरोहित के लिये पूजन पद्धति एवं आराधना विधि चिन्तन उसका जीवन है, वह केवल कोई रीति रिवाज़ का निर्वाह मात्र नहीं है. "

सन्त पापा ने कहा, "पुरोहितों के लिये प्रार्थना उनकी मूलभूत आवश्यकता है, प्रार्थना करना, ईश वचन से पोषित होना, ईश वचन का प्रसार करना, जिस रोटी को अभिमंत्रित करते हैं उसकी आराधना करना तथा इसे प्रतिदिन दुहराना ही पुरोहित का जीवन है. फादर पुलियेसी भी यही कहा करते थे कि यही तीन, प्रार्थना, ईश वचन तथा रोटी पुरोहित के जीवन के अनिवार्य तथ्य हैं. "

धार्मिकता के दुरुपयोग के प्रति चेतावनी

समारोह के विषय में सन्त पापा फ्राँसिस ने कहा, "पालेरमो तथा इसके निकटवर्ती क्षेत्रों में लोकभक्ति अति लोकप्रिय है. यह एक ऐसा कोष है जिसकी सराहना की जानी चाहिये तथा जिसे संजोये रखा जाना चाहिये क्योंकि इसमें सुसमाचार उदघोषणा की शक्ति निहित होती है किन्तु इसका अभिनायक सदैव पवित्र आत्मा को स्वीकार किया जाना चाहिये. " अस्तु, सन्त पापा ने कहा, "मैं आप सबसे निवेदन करता हूँ कि आप सचेत रहें कि माफ़िया की उपस्थिति के कारण लोकभक्ति और धार्मिकता का दुरुपयोग न किया जाये क्योंकि ऐसा करने से, प्रेमपूर्ण आराधना का साधन होने की बजाय, यह भ्रष्ट अस्थिरता का वाहन बन जायेगा. "

15 September 2018, 11:24