बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
इटली के पालेरमो में सन्त पापा फ्राँसिस इटली के पालेरमो में सन्त पापा फ्राँसिस  (AFP or licensors)

धन्य पीनो पुलियेसी की स्मृति में सन्त पापा पालेरमो की यात्रा पर

धन्य पीनो पुलियेसी की शहादत की 25 वीं पुण्य तिथि पर शनिवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने दक्षिण इटली स्थित पालेरमो की एक दिवसीय प्रेरितिक यात्रा की। इटली के सिसली द्वीप का पालेरमो शहर इटली के अति कुख्यात माफिया अपराधिक दल कोज़ा नोस्त्रा का गढ़ कहलाता है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार, 15 सितम्बर 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): इटली के धन्य पीनो पुलियेसी की शहादत की 25 वीं पुण्य तिथि पर शनिवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने दक्षिण इटली स्थित पालेरमो की एक दिवसीय प्रेरितिक यात्रा की.

इटली के सिसली द्वीप का पालेरमो शहर इटली के अति कुख्यात माफिया अपराधिक दल कोज़ा नोस्त्रा का गढ़ कहलाता है. इसी अपराधिक माफिया दल के आदेश पर 25 वर्षों पूर्व 15 सितम्बर के दिन युवाओं के उद्धार में लगे फादर पुलियेसी की हत्या कर दी गई थी. धन्य पुलियेसी की पुण्य तिथि पर सन्त पापा फ्राँसिस पालेरमो के फोरो इतालिको चौक में ख्रीस्तयाग अर्पित कर रहे हैं तथा सन्त गायतानो को समर्पित पल्ली का दौरा कर रहे हैं जो फादर पुलियेसी का मिशन केन्द्र एवलं उनका कार्य स्थल हुआ करता था. शनिवार अपरान्ह, सन्त पापा ने पालेरमो के महागिरजाघर में, पुरोहितों, धर्मसमाजियों तथा धर्मसंघियों के लिये प्रार्थना सभा की अध्यक्षता कर प्रवचन करेंगे तथा शहर के पियात्सा पोलीतेआमा में युवाओं का साक्षात्कार कर उन्हें अपना सन्देश देंगे.    

धन्य पीनो पुलियेसी

15 सितम्बर सन् 1937 को धन्य पीनो पुलियेसी का जन्म हुआ था तथा 56 वर्ष बाद उसी दिन उनकी हत्या कर दी गई थी. 16 वर्ष की उम्र में पीनो पुलियेसी ने गुरुकुल में प्रवेश किया था तथा सन् 1960 में आपरोहित अभिषिक्त किये गये थे. आपकी प्रथम प्रेरिताई प्रायः पल्लियों में युवाओं के साथ बीती. सन् 1978 में आपने पालेरमो के गुरुकुल में अपनी प्रेरिताई का निर्वाह किया तथा सन् 1990 से अपनी हत्या तक पालेरमो के निकटवर्ती ब्रानकाज्यो स्थित सन्त गायतानो पल्ली की देखरेख तथा, विशेष रूप से, युवाओं को माफ़िया के प्रलोभन में न पड़ने का सन्देश देते रहे थे.

"हमारे पिता स्वागत केंद्र"

सन् 1991 में फादर पुलियेसी ने "हमारे पिता स्वागत केंद्र" की स्थापना की थी. पालेरमो की कठिन प्रेरितिक परिस्थिति के प्रत्युत्तर में फादर पुलियेसी ने इस केन्द्र की स्थापना की थी जहाँ वृद्ध परित्यक्त थे तथा स्कूलों के अभाव में किशोर, युवा एवं वयस्क निरक्षर थे. निर्धनता एवं बेरोज़गारी ने कई पल्ली वासियों को माफ़िया से संयुक्त होने के लिये मजबूर कर रखा था. इन्हीं लोगों की सेवा में फ़ादर पुलियेसी ने हमारे पिता केन्द्र की स्थापना की, कई परिवारों को माफ़िया के चंगुल से छुड़ाया तथा बच्चों, किशोरों और युवाओं के लिये अनौपचारिक पाठशालाओं को खुलवाया. 15 सितम्बर के दिन ही फादर पुलियेसी ब्रान्काज्यो में युवाओं के लिये एक स्कूल के निर्माण हेतु अनुमति मांगने नागर अधिकारियों के पास गये थे. उसी दिन सन्ध्या गोली मार उनकी हत्या कर दी गई.

फादर पुलियेसी के शब्द

समर्पण एवं बलिदान के विषय में सन्त पापा ने बताया कि फादर पुलियेसी कहा करते थे, "होलोकॉस्ट यानि आहुति का अर्थ है क्रूस की वेदी पर स्वतः के पूरे अस्तित्व को जला डालना. जो लोग समाज को शत्रु मानते तथा उससे नाराज़ हैं उनके सन्मुख साक्ष्य प्रस्तुत करने की नितान्त आवश्यकता है. हमारा साक्ष्य ऐसा हो जो व्यक्तियों में आशा का संचार कर सके तथा उसमें यह समझ उत्पन्न कर सके कनजीव जीने योग्य और म ल यवान तब होता है जब उसमें बलिदान की भावना होती है."

15 September 2018, 11:12