बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
सन्त पापा द्वारा ख्रीस्तयाग हेतु पालेरमो में श्रद्धालु एकत्र सन्त पापा द्वारा ख्रीस्तयाग हेतु पालेरमो में श्रद्धालु एकत्र   (AFP or licensors)

पैसा और शक्ति मनुष्य को मुक्त नहीं करती उसे गुलाम बना देती है

इटली के पालेरमो शहर स्थित फोरो इतालिको चौक में सन्त पापा फ्राँसिस ने शनिवार को पालेरमो के लोगों के लिये ख्रीस्तयाग अर्पित कर प्रवचन किया। उन्होंने इस बात की ओर ध्यान आकर्षित कराया कि धन और शक्ति मनुष्य को मुक्त नहीं करती अपितु उसे गुलाम बना देती है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

पालेरमो, शनिवार, 15 सितम्बर 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): इटली के पालेरमो शहर स्थित फोरो इतालिको चौक में शनिवार को सन्त पापा फ्राँसिस ने पालेरमो के लोगों के लिये ख्रीस्तयाग अर्पित कर प्रवचन किया. पस पसर पर उन्होंने इस बात की ओर ध्यान आकर्षित कराया कि धन और शक्ति मनुष्य को मुक्त नहीं करती अपितु उसे गुलाम बना देती है.

सन्त पापा ने कहा कि प्रभु ईश्वर हमारी एवं विश्व भर की समस्याओं को दूर करने के लिये ही क्रियाशील नहीं रहते बल्कि इसलिये कि उनका मार्ग विनीत प्रेम का मार्ग है, केवल प्रेम में मनुष्य को अन्तर से मुक्त करने तथा यथार्थ आनन्द प्रदान करने की शक्ति है. इसीलिये, उन्होंने कहा कि वास्तविक शक्ति और ईश्वर के अनुकूल शक्ति है सेवा. इसी प्रकार वह आवाज़ शक्तिशाली नहीं होती जिसमें ज़ोर से चिल्लाने की शक्ति होती है बल्कि प्रार्थना में शक्ति होती है. इसी तरह महान सफलता ख़ुद के विख्यात होने में नहीं है अपितु स्वतः के साक्ष्य और स्वतः के उदाहरण में निहित होती है.    

दूसरों के ख़ातिर जीयें

सन्त पापा ने कहा, "आज हम सब बुलायें गये हैं कि हम किस तरफ जायें, कौनसा मार्ग चुनें, स्वतः के लिये जीयें या फिर अपना जीवन अन्यों के लिये अर्पित कर दें. केवल जीवन का समर्पण ही बुराई को पराजित करने में सक्षम है. पुलन पुलियेसी हमें सिखाते हैं कि हम अपने आप के लिये नहीं जीयें. वे कभी दिखावे के लिये नहीं जीये, केवल माफ़िया विरोधी अपीलों मेंनका जीवन नहीं बीता, वे तो बस भलाई में लगे रहे. "

सन्त पापा ने कहा, "डॉन पुलियेसी के मिशन की तर्कणा पराजय की ओर जानेवाली प्रतीत होती थी किन्तु उनके मिशन ने यही सिखाया है कि धन की तर्कणा कभी सफलता और विजय प्राप्त नहीं करा सकती."

सन्त पापा ने कहा कि यह मानव स्वाभाव है कि जितना उसके पास उससे अधिक रखने की उसमें लालसा रहा करती है किन्तु यह एक बुरी आदत है जो कभी न कभी हमें विनाश की ओर ले जाती है. उन्होंने कहा कि जो लोग चीजों से फूल जाते हैं जबकि वे लोग जो्रेम करते हैं वे कख़ुद पा लेते हैं. प्रेम करनेवाले सहायता एवं सेवा के लिये तत्पर हो जाते हैं, उनके अन्तर में हर्षोल्लास एवं मुख पर मुस्कुराहट झलकती रहती है जैसा कि वह सदैव डॉन पुलियेसी के मुख पर रहा करती थी.

पुलन पुलियेसी की मुस्कुराहट उनकी जीत

सन्त पापा ने कहा, "पच्चीस साल पहले, उनके जन्मदिन पर डॉन पुलियेसी की हत्या कर दी गई थी तब उन्होंने अपनी हत्या को अपने मुख पर मुस्कुराहट से अपनी जीत का ताज पहनाया, उस मुस्कान के साथ, जिसने, रात में उनके हत्यारे को सोने नहीं दिया, हत्यारा यह याद कर कहता रहा: "उस मुस्कुराहट में एक तरह का विचित्र प्रकाश था" फादर पीनो निस्सहाय थे, किन्तु उनकी मुस्कुराहट ईश्वर की शक्ति को प्रसारित कर रही थी: वह अंधेरे में चमकती बिजली नहीं थी अपितु एक विनम्र प्रकाश था जिसमें दिल को खोदने और उसे साफ करने की शक्ति थी. सन्त पापा ने कहा, "यह प्रेम, बलिदान और सेवा की मुस्कुराहट और रोशनी थी."

सन्त पापा ने कहा कि डॉन पुलियेसी जानते थे कि उनका कार्य जोखिम भरा कार्य था किन्तु लोगों के कल्याण के ख़ातिर वे अपने पथ पर आगे बढ़ते रहे. उन्होंने कहा, "आज कलीसिया को ऐसे ही पुरोहितों की आवश्यकता है जो डॉन पुलियेसी के सदृश प्रेम एवं सेवा भाव से परिपूर्ण होकर अपना जीवन अन्यों की सेवा में व्यतीत करें."

15 September 2018, 11:14