Cerca

Vatican News
संत पापा की एस्टोनिया की यात्रा  की तैयारी संत पापा की एस्टोनिया की यात्रा की तैयारी 

संत पापा की यात्रा हृदय को जागृत करेगी, एस्टोनिया की उम्मीद

एस्टोनिया वासियों को संत पापा फ्राँसिस का बेसब्री से इन्तजार है। संत पापा की प्रेरितिक यात्रा उनके साथ मिलने, उनकी बातों को सुनने और उनके साथ समय बिताने का सुन्दर अवसर है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

एस्टोनिया, बुधवार 18 सितम्बर 2018 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस शनिवार 22 से 25 सितम्बर तक अपनी 25वीं प्रेरितिक यात्रा के दौरान बाल्टिक देशों, लितुवानिया, लातविया और एस्टोनिया का दौरा करेंगे। इन देशों का दौरा 25 वर्ष पहले संत पापा जॉन पॉल द्वितीय ने सितम्बर सन् 1993 में किया था।

संत पापा की एस्टोनिया यात्रा के लिए संचार समन्वयक सुश्री मार्गे-मेरी पास ने वाटिकन न्यूज संवाददाता डेविड वाटकिंस से संत पापा की  प्रेरितिक यात्रा की तैयारी और प्रतीक्षा के बारे में बातें कीं। मेरी पास ने कहा, “हमारी आशा है कि यह ऐतिहासिक दिन बहुतों के लिए हृदयस्पर्शी होगा।”

"मेरी आत्मा, जागो"

संत पापा मंगलवार, 25 सितंबर को एस्टोनिया की प्रेरितिक यात्रा करेंगे। संत पापा द्वारा एस्टोनिया की प्रेरितिक यात्रा का आदर्श वाक्य, "मेरी आत्मा, जागो" चुना गया है।

एस्टोनिया एक बहुत ही विकसित यूरोपीय राष्ट्र है। यह मानव विकास सूचकांक में उच्च स्थान पर है और यह डिजिटल रूप से  दुनिया के सबसे उन्नत समाजों में से एक जाना जाता है। सन् 2005 में इंटरनेट पर चुनाव करने वाला एस्टोनिया पहला देश है और 2014 से ही ई-रेजीडेंसी की पेशकश करना शुरू कर दिया है।

सुश्री पास ने कहा कि इन आर्थिक सफलताओं के बीच, एस्टोनिया के लोग आध्यात्मिकता की खोज कर रहे हैं। आदर्श वाक्य हमें यह सोचने के लिए प्रेरित करती है कि हमारा हृदय किन बातों में टिका हुआ है? "हम वास्तव में चाहते हैं कि यह दिन न केवल काथलिक बल्कि सभी एस्टोनियाई लोगों के लिए आध्यात्मिकता में बढ़ने का अवसर हो।"

इस देश में करीब 6 हजार काथलिक हैं।

युवाओं के साथ संत पापा

संत पापा फ्राँसिस मंगलवार दोपहर को अंतरकलीसियाई युवा बैठक में भाग लेंगे। सुश्री पास ने कहा कि वे कई युवा लोगों को जानती हैं जो संत पापा को देखने के लिए बहुत उत्साहित हैं। उनका मानना है कि जीवन और भविष्य के बारे में उनके पास कई सवाल हैं जिनका जवाब वे संत पापा से सुनना चाहेंगे।

"वार्तमान स्यम की युवा पीढ़ी मूल रूप से साइबर स्पेस में रहते हैं, इंटरनेट पर चैट करते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि वे [उस दुनिया से] बाहर आना चाहते हैं। असल में, यह एक साथ रहने का एक अवसर है, न केवल संत पापा फ्राँसिस के साथ बल्कि दोस्तों और विभिन्न देशों के अन्य युवाओं के साथ।"

19 September 2018, 15:59