बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
अनुभवों के साझा करने का आहृवान अनुभवों के साझा करने का आहृवान   (ANSA)

अनुभवों को साझा करने का आहृवान

संत पापा ने युवाओं कोा अभिवादन करते हुए उन्हें भ्रातृत्वमय प्रेम और कलीसियाई सामुदायिकता की खुशी को साझा करने की हिदायत दी

वाटिकन सिटी-दिलीप संजय एक्का

देवदूत प्रार्थना के उपरांत संत पापा फ्रांसिस ने कहा, मैं रोम और विश्व के विभिन्न स्थानों से आये आप सभी तीर्थयात्रियों का अभिवादन करता हूँ। मैं विशेष रूप से इटली के विभिन्न धर्मप्रांतों से आये हुए युवाओं का अभिवादन करता हूँ जो अपने धर्माध्यक्षों, पुरोहितों और शिक्षकों के साथ हैं। इन दिनों आप ने अपने विश्वास और जोश से रोम की गलियों को सराबोर कर दिया है। मैं आप की उपस्थिति और आप के ख्रीस्तीय साक्ष्य हेतु आप का धन्यवाद अदा करता हूँ। संत पापा ने शनिवार को पुरोहितों के प्रति अपनी कृतज्ञता की भावना अर्पित करने हेतु भूल के लिए क्षमा की याचना करते हुए कहा कि मैं पुरोहितों का सारे दिल से शुक्रगुजार हूँ। युवाओं के साथ कार्य करना धैर्य की मांग करता है और आप ने बड़े धैर्य के साथ युवाओं का साथ दिया है, आप को कोटिश धन्यवाद। मैं धर्मबहनों के प्रति भी अपना आभार व्यक्त करता हूँ जो युवाओं के साथ कार्य करती हैं।
संत पापा ने इटली के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अधिकारी कर्डिनल गलितियेरो बासेत्ती के प्रति अपनी कृतज्ञता प्रकट की जिन्होंने युवाओं के इस मिलन समारोह का आयोजन आगामी होने वाले धर्माध्यक्षीय धर्मसभा के परिदृश्य में किया।

अनुभवों को साझा करने का आहृवान

संत पापा ने पुनः युवाओं को अपने संदेश में कहा कि जब आप अपने समुदाय लौटें तो अपने मित्रों को और जिनसे आप की मुलाकात हो उनके साथ अपने भ्रातृत्वमय प्रेम और कलीसियाई सामुदायिकता की खुशी को साझा करें जिसका अनुभव आप ने इन दिनों की तीर्थयात्रा और प्रार्थना में किया है।
इतना कहने के बाद संत पापा ने सभी युवाओं को सकुशल घर वापसी की शुभकामनाएं प्रदान की और अपने लिए प्रार्थना का निवेदन करते हुए सबों को रविवारीय मंगलकामनाएँ अर्पित कीं।
 

13 August 2018, 16:04