Cerca

Vatican News
कार्डिनल लियोपोल्ड ब्रेन्स 14 जुलाई, 2018 को निकारागुआ में प्रेस सम्मेलन में कार्डिनल लियोपोल्ड ब्रेन्स 14 जुलाई, 2018 को निकारागुआ में प्रेस सम्मेलन में   (ANSA)

संत पापा के नाम पर निकारागुआ के राजदूत की अपील

निकारागुआ में सरकार दमन समाप्त नहीं हुआ है। राष्ट्रपति ओर्टेगा के खिलाफ प्रतिरोध करने वाले मसाया शहर पर सरकार ने कब्जा कर लिया। काथलिक कलीसिया में हमलों के बावजूद प्रेरितिक राजदूत वार्ता करने के लिए फिर से लौटने की अपील करते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

“संत पापा फ्राँसिस के नाम पर निकारागुआ के लिए प्रेरितिक राजदूत धर्माध्यक्ष वाल्देमार स्तानिस्लाव सोमेरटाग ने हिंसा को समाप्त करने की जोरदार अपील की, जो आज से ठीक 3 महिना पहले 18 अप्रैल को शुरु हुई थी और इसमें 360 से भी ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। विपक्षी दल लोकतंत्र की बहाली और राष्ट्रपति ओर्टेगा के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं, जो लगातार 2007 से सत्ता में हैं और अपनी पत्नी रोजारियो मुरिलो उपाध्यक्ष के साथ शासन सत्ता में बने रहना चाहते हैं।” उक्त बातें वाटिकन संवाददाता पत्रिसिया के साथ निकारगुआ धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव ने साक्षात्कार में कही।

संकट के लिए संत पापा की गहरी चिंता

धर्माध्यक्ष निकारागुआ के काथलिक मीडिया द्वारा जारी एक बयान में पुष्टि करते हैं," मैं इस दुखद पल में, संत पापा फ्राँसिस और परमधर्मपीठ के नाम पर गंभीर स्थिति के लिए गहरी चिंता व्यक्त करना चाहता हूँ। तर्कसंगत रूप से यह सोचना स्वीकार्य नहीं होगा कि मृत और हिंसा के पीड़ित राजनीतिक संकट को हल कर सकते हैं और निकारागुआ में शांति और समृद्धि के भविष्य की गारंटी दे सकते हैं।"

वार्ता के लिए वापस लौटना

प्रेरितिक राजदूत ने कहा, "सभी मरे हुओं के लिए और उनके लिए विलाप करने वाले परिवारों के लिए प्रार्थना करना जारी है–मैं अपनी मानसिक और आध्यात्मिक शक्ति के साथ सभी से इस संघर्ष को समाप्त करने की मांग करता हूँ और एक साथ मिलकर राष्ट्रीय वार्ता की मेज पर संकट का हल निकालने के लिए पुनःवापस आने की अपील करता हूँ।  हम सभी ने नम्रता से धन्य कुवांरी मरियम की सुरक्षा में खुद को समर्पित किया है। मैंने हमेशा हमारे प्यारे निकारागुआ का मार्गदर्शन करने में उनसे मदद मांगी है।"

18 July 2018, 17:13