Cerca

Vatican News
संत मर्था के प्रार्थनालय में ख्रीस्तयाग अर्पित करते हुए संत पापा संत मर्था के प्रार्थनालय में ख्रीस्तयाग अर्पित करते हुए संत पापा  (Vatican Media)

हम प्रभु से किस तरह मुलाकात करना चाहते हैं?

संत पापा फ्राँसिस ने मंगलवार, 27 नवम्बर को वाटिकन स्थित प्रेरितिक आवास संत मर्था के प्रार्थनालय में ख्रीस्तयाग अर्पित करते हुए कहा कि प्रभु के सामने प्रस्तुत होने एवं उनके साथ मुलाकात करने के समय पर, अंतःकरण की जाँच करना हमारी बुद्धिमता है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 27 नवम्बर 2018 (रेई)˸ प्रवचन में संत पापा ने प्रकाशना ग्रंथ से लिए गये पाठ पर चिंतन करते हुए कहा, अंतःकरण की जाँच करना हमारी बुद्धिमता है इस विचार से कि एक दिन हम प्रभु को आमने-सामने देखेंगे। अतः हमें अपने आपसे पूछना चाहिए कि हम उन्हें अपने आप को किस तरह प्रस्तुत करेंगे। अंतःकरण की जाँच हमें मदद देगी कि वह मुलाकात हमारे लिए आनन्दमय अवसर हो।

अंतिम फसल

संत पापा ने कहा कि विगत सप्ताह की पूजन-पद्धति में यह एक कृपा रही कि हमने दुनिया के अंत एवं दुनिया से हमारे जीवन के अंत पर विचार किया। प्रकाशना ग्रंथ से लिये गये पाठ में फसल के प्रतीक को दर्शाया गया है।

अंतिम समय हम प्रत्येक ईश्वर से मुलाकात करेंगे तथा उनसे कहेंगे- यह मेरा जीवन है... ये हैं मेरे जीवन के गुण।

संत पापा ने कहा कि हम प्रत्येक को हमारे पापों को स्वीकार करना पड़ेगा क्योंकि हम गलतियाँ और अच्छाइयाँ दोनों करते हैं।

संत पापा ने विश्वासियों का आह्वान किया कि हम इस सप्ताह अंत के समय की प्रज्ञा के लिए पवित्र आत्मा का आह्वान करें, ताकि यह प्रभु के साथ मुलाकात करने हेतु आनन्दमय अवसर बने।

मैं अपने को किस तरह प्रस्तुत करना चाहता हूँ?

उन्होंने कहा, "यदि प्रभु आज मुझे बुलाये होते तो मैं क्या करता और उन्हें क्या जवाब देता? यह सोच हमें उनकी ओर आगे बढ़ने में मदद देता है। हम न केवल अपना हिसाब देने के लिए उनसे मुलाकात करेंगे परन्तु यह हमारे लिए आनन्द, खुशी एवं दया से पूर्ण समय होगा।"

संत पापा ने कहा कि दुनिया के अंत एवं अपने जीवन के अंत पर विचार करना एक बुद्धिमानी है। विवेकशील व्यक्ति ही इस पर चिंतन करते हैं।  

प्रभु हमें निमंत्रण देते हैं कि हम इस सप्ताह अपने आप से पूछें, "मेरा अंत किस प्रकार होगा? संत पापा ने अंतःकरण की जाँच करने का परामर्श दिया जो हमें अपने जीवन में झांकने में मदद देगा। मैं किन चीजों से आसक्त हूँ जो मुझे आगे बढ़ने नहीं देते? मुझे किन चीजों में बढ़ने की आवश्यकता है जो सचमुच अच्छा है...?

प्रज्ञा के लिए प्रार्थना करें

संत पापा ने कहा कि यह पवित्र आत्मा का कार्य है कि हम प्रज्ञा में बढ़ सकते हैं। उन्होंने प्रोत्साहन दिया कि हम प्रज्ञा के वरदान के लिए प्रार्थना करें। संत पापा ने विश्वासियों का आह्वान किया कि हम इस सप्ताह पवित्र आत्मा से अंत के समय की प्रज्ञा के लिए प्रार्थना करें, पुनरूत्थान एवं येसु से अनन्त मुलाकात की प्रज्ञा के लिए प्रार्थना करें, ताकि यह प्रभु के साथ मुलाकात करने हेतु आनन्दमय अवसर बने। हम प्रार्थना करें कि प्रभु हमें उस दिन के लिए तैयार करें।

27 November 2018, 16:35
सभी को पढ़ें >