खोज

Vatican News
नाईजिरिया में मानव तस्करी पर विरोध नाईजिरिया में मानव तस्करी पर विरोध 

मानव तस्करी के खिलाफ लड़ाई में नई पीढ़ी पर आशा

रोम में, गुरुवार को, आधुनिक दासता से लड़ने के लिए एक नई पीढ़ी को सशक्त बनाना, शीर्षक से इंटरनेशनल यूनियन ऑफ सुपीरियर्स जनरल (यूआईएसजी) ने परमधर्मपीठ से संलग्न आयरी तथा अमरीकी राजदूतावासों के साथ मिलकर एक संगोष्ठी का आयोजन किया।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

रोम, शुक्रवार, 15 अक्तूबर 2021 (रेई, वाटिकन रेडियो): रोम में, गुरुवार को, आधुनिक दासता से लड़ने के लिए एक नई पीढ़ी को सशक्त बनाना, शीर्षक से इंटरनेशनल यूनियन ऑफ सुपीरियर्स जनरल (यूआईएसजी) ने परमधर्मपीठ से संलग्न आयरी तथा अमरीकी राजदूतावासों के साथ मिलकर एक संगोष्ठी का आयोजन किया, जिसमें इस बात की ओर ध्यान आकर्षित कराया गया कि आज विश्व में कम से दो से लेकर चार करोड़ तक लोग आधुनिक दासता जैसे मानव तस्करी के शिकार बने हुए हैं।

संगोष्ठी में इस तथ्य को भी रेखांकित किया गया कि मानव तस्करी एक ऐसा व्यापार भी है जिस पर रोक लगाना मुश्किल है क्योंकि इससे तमाम विश्व में तस्कर तथा अपराधी जगत के लोग प्रति वर्ष 150 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक मुनाफा कमाते हैं।

नई पीढ़ी की गतिशीलता

तलिथा कुम काथलिक अन्तरराष्ट्रीय उदारता संगठन की समन्वयकर्त्ता सि. गाब्रिएला बोत्तानी ने कहा कि यह विषय उनके दिल के बहुत क़रीब है। उन्होंने कहा,  "मुझे लगता है कि हमारे पास एक बहुत ही खास नई पीढ़ी उभर रही है जो काफी अनोखी है।"

उन्होंने कहा, "जब हम इस जघन्य अपराध की दुनिया को खत्म करने के मिशन पर हमारे साथ काम करने के लिए नई पीढ़ी को सशक्त बनाने की बात करते हैं, तब शायद हमें सशक्त बनाने के लिए हमें ख़ुद उनकी आवश्यकता है।"

सि. बोत्तानी ने कहा, "युवा पीढ़ी हमारा भविष्य है।" मुझे लगता है कि वे हमारे ग्रह को साफ करने की आवश्यकता से अवगत हैं; हमारी सभी व्यवस्थाओं को साफ करने की आवश्यकता के प्रति वे जागरुक हैं ताकि वे स्वयं अपने परिवारों के लिए एक खुशहाल और बेहतर भविष्य का निर्माण कर सकें।

15 October 2021, 11:29