Vatican News
लेबनान के बैरूथ में  घातक विस्फोट का एक दृश्य - फाईल तस्वीर लेबनान के बैरूथ में घातक विस्फोट का एक दृश्य - फाईल तस्वीर  (AFP or licensors)

लेबनान के पक्ष में यूरोप के काथलिक धर्माध्यक्षों की अपील

यूरोपीय समुदाय के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के आयोग ने यूरोपीय संघ से अपील की है कि वह लेबनान के लोगों का समर्थन करे जो घोर राजनैतिक एवं आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 28 मई 2021 (वाटिकन न्यूज़): यूरोपीय समुदाय के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के आयोग ने यूरोपीय संघ से अपील की है कि वह लेबनान के लोगों का समर्थन करे जो घोर राजनैतिक एवं आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं।

"संकट में पड़े लेबनान के लोगों का समर्थन करें", शीर्षक से बुधवार को, जारी अपील में यूरोप के काथलिक धर्माध्यक्षों ने यूरोपीय संघ से आग्रह किया कि वह लेबनान की मदद करे जो कि "वर्तमान बहुपक्षीय संकट की स्थिति में अपनी पहचान और सामाजिक संरचनाओं को बनाए रखने के लिए संघर्ष कर रहा है"।

लेबनान के काथलिक धर्माध्यक्षों द्वारा यूरोप के काथलिक धर्माध्यक्षों को लिखे गये पत्र के बाद यूरोपीय संघ से उक्त अपील की गई।

लेबनान के समक्ष चुनौतियाँ

लेबनान की प्राधिधर्माध्यक्षीय सभा तथा काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने वाटिकन के कार्डिनल जाँ क्लाऊदे होल्लेरिख को एक पत्र लिखकर "लेबनान के लोगों को प्रभावित करने वाले मौजूदा राजनीतिक, सामाजिक, स्वास्थ्य और आर्थिक संकट से उत्पन्न खतरों के बारे में चिंता व्यक्त की थी।"

लेबनान कई महीनों से कई मोर्चों पर एक गंभीर स्थिति का सामना कर रहा है: राजनेता नई सरकार बनाने के लिए एक समझौते पर पहुंचने में असमर्थ रहे हैं, लेबनान कई महीनों से कई मोर्चों पर एक गंभीर स्थिति का सामना कर रहा है: राजनेता नई सरकार बनाने के लिए एक समझौते पर पहुंचने में असमर्थ रहे हैं, जबकि आर्थिक स्तर पर, मुद्रास्फीति एवं कोविद-19 महामारी के कारण हुए लॉकडाउन ने सामाजिक स्थिति को और भी अधिक गम्भीर बना दिया है।

इस संकट के अतिरिक्त, सरकार के गतिरोध के खिलाफ सड़कों पर कई विरोध प्रदर्शन हुए हैं, साथ ही 04 अगस्त, 2020 को बैरूथ के बंदरगाह पर हुए घातक  विस्फोट के गम्भीर आर्थिक और सामाजिक परिणाम सामने आए हैं। इस संकट में 200 लोग मारे गये थे तथा सात हज़ार से अधिक घायल हो गये थे।

समर्थन का आह्वान

बैरूथ की कलीसिया के अनुसार, लेबनान में व्याप्त चिन्ताजनक स्थिति देश की अस्मिता, मेलमिलाप, भ्रातृत्व भाव एवं विभिन्न धर्मों के लोगों के साथ सम्वाद की संस्कृति को जोखिम में डाल रही है, इसीलिये लेबनान के सभी काथलिक धर्माध्यक्षों ने अन्तरराष्ट्रीय समुदाय तथा यूरोपीय संघ से अपील की है। उन्होंने आग्रह किया कि अन्तरराष्ट्रीय समुदाय तथा यूरोपीय संघ लेबनान की आर्थिक सहायता कर देश की संरचनाओं की सुरक्षा करे तथा लेबनानी लोगों के वैयक्तिक, सामुदायिक एवं राष्ट्रीय अधिकारों को कायम रखने में मदद प्रदान करें।

ख्रीस्तीय समुदाय

काथलिक धर्माध्यक्षों एवं प्राधिधर्माध्यक्षों ने इस बात पर भी बल दिया कि काथलिक कलीसिया बिना किसी भेदभाव के सम्पूर्ण देश एवं लेबनानी जनता की सेवा के लिये कृतसंकल्प है इसलिये उस क्षेत्र में ख्रीस्तीय उपस्थिति एवं अस्तित्व को बरकरार रखना अति आवश्यक है।

28 May 2021, 11:21