खोज

Vatican News
राजकुमार फिलिप को तोपों की सलामी के साथ श्रद्धांजलि राजकुमार फिलिप को तोपों की सलामी के साथ श्रद्धांजलि  (AFP or licensors)

राजकुमार फिलिप की मृत्यु पर महाधर्माध्यक्ष की संवेदना

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ के पति प्रिंस फिलिप का 99 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनकी मृत्यु पर वेस्टमिंस्टर के महाधर्माध्यक्ष ने संवेदना व्यक्त की और कहा कि पूरा देश को उन्हें खोने का गम है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 10 अप्रैल 2021 (वाटिकन न्यूज) : बकिंघम पैलेस द्वारा शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा गया है, ʺबहुत दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि महारानी एलिजबेद ने अपने प्रिय पति, राजकुमार फिलिप, ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग की मृत्यु की घोषणा की।ʺ

उन्होंने शुक्रवार 9 अप्रैल को सुबह विंडसर कैसल में शांति से अपनी अंतिम सांस ली और सदा के लिए इस दुनिया को छोड़ चले गये। प्रिंस ने 16 मार्च को विंडसर कैसल में लौटने से पहले एक महीने तक अस्पताल में संक्रमण का इलाज करवाया और दिल की सर्जरी करवाई थी।

राजकुमार फिलिप ने ब्रिटेन की सबसे लम्बे समय तक अपनी सेवा दी। वे ग्रीस और डेनमार्क के राजकुमार के रुप में फिलिप का जन्म1921 में हुआ था और 1947 में राजकुमारी एलिजाबेथ से शादी के बाद उन्हें यूनाइटेड किंगडम का राजकुमार बनाया गया था।

महारानी एलिजाबेथ को सिंहासन का ताज मिलने को बाद, राजकुमार फिलिप ने जीवन भर रानी और देश के लिए अपनी सेवा समर्पित की।

संवेदना

ड्यूक को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए, वेस्टमिंस्टर के महाधर्माध्यक्ष, कार्डिनल विंसेंट निकोल्स ने कहा, ʺदुख और नुकसान के इस क्षण में मैं महारानी के वफादार पति प्रिंस फिलिप की आत्मा की अनंत शाति के लिए प्रार्थना करता  हूँ साथ ही मैं महारानी और सभी शाही परिवार के सदस्यों के लिए प्रार्थना करता हूँ।ʺ

कार्डिनल ने कहा, ʺहमें राजकुमार फिलिप की अनुपस्थिति खलेगी, उनका जीवन दृढ़ता से भरा हुआ था। वे दृढ़ निष्ठा और कर्तव्यनिष्ठा के आदर्श थे। वे चिरशांति को प्राप्त करें।ʺ

वेस्टमिंस्टर के महाधर्माध्यक्ष  कार्डिनल विंसेंट निकोल्स ने लगभग सौ वर्षों तक राजकुमार के उल्लेखनीय जीवन के बारे में बातें करते हुए, वाटिकन रेडियो से कहा कि राजकुमार फिलिप ने वफादारी और कर्तव्यपरायन्ता की विरासत को छोड़ गये हैं।

 “यह देश ड्यूक ऑफ़ एडिनबर्ग, राजकुमार फिलिप  के प्रति उनकी वफादारी, कर्तव्यनिष्ठा, उनकी हंसमुख भावना और दृढ़ता के लिए और महारानी के प्रति आभार व्यक्त करता है।”

राजकुमार फिलिप ने अपनी पत्नी का समर्थन देने के लिए एक आशाजनक नौसैनिक कैरियर छोड़ दिया और देश और विदेश दोनों जगहों पर ब्रिटिश हितों को बढ़ावा देने वाले 20,000 रॉयल कार्य किया। वे 2014 में कासा सांता मार्था में संत पापा फ्राँसिस से मिलने के लिए महारानी एलिजाबेथ के साथ आये थे।

प्रिंस फिलिप ने संत पापा जॉन तेईस्वें,संत  पापा जॉन पॉल द्वितीय और संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें से उनके परमाध्यक्षीय काल के दौरान मुलाकात की थी। प्रिंस फिलिप 65 साल की सेवा के बाद 2017 में रॉयल ड्यूटी से सेवानिवृत्त हुए।

राजकुमार फिलिप के चार बच्चे-प्रिंस चार्ल्स, राजकुमारी ऐनी, प्रिंस एंड्रयू और प्रिंस एडवर्ड के साथ-साथ आठ पोते और 10 परपोते-पोतियाँ हैं।

10 April 2021, 14:05