खोज

Vatican News
सागर धर्मप्रांत सागर धर्मप्रांत 

सागर धर्मप्रांत के सेवानिवृत धर्माध्यक्ष का निधन

मध्यप्रदेश के सागर सिरो मलाबार धर्मप्रांत के पूर्व धर्माध्यक्ष जोसेफ पास्टर नीलंकाविल का निधन 17 फरवरी को त्रिचूर में हुआ। वे 90 साल के थे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

त्रिचूर, बृहस्पतिवार, 18 फरवरी 21 (मैटर्स इंडिया)- मध्यप्रदेश के सागर सिरो मलाबार धर्मप्रांत के पूर्व धर्माध्यक्ष जोसेफ पास्टर नीलंकाविल का निधन 17 फरवरी को त्रिचूर जिला के कुट्टूर स्थित जेसु भवन में सुबह 6.45 में हुआ। वे 90 साल के थे।  

धर्माध्यक्ष जोसेफ का जन्म 19 मार्च 1930 को त्रिचूर के अरानातात्तुकारा में हुआ था।  

17 मई 1960 को धर्माराम प्रार्थनालय में कार्डिनल जोस्फ पारेकात्तिल के द्वारा उनका पुरोहिताभिषेक हुआ था। उनकी पहली नियुक्ति त्रिचूर महाधर्मप्रांत में सामाजिक प्रेरिताई हेतु सहायक निदेशक के रूप में हुई थी। वे काथलिक श्रम संगठन के भी निदेशक नियुक्त किये गये थे।

1963 में वे प्रेरितिक समाज शास्त्र एवं कलीसियाई कानून की पढ़ाई के लिए रोम भेजे गये थे जहाँ लातेरन विश्व विद्यालय से उन्होंने कैनन लॉ में डॉक्टर की उपाधि हासिल की थी।

पढ़ाई के बाद जब वे महा मिशन समिति में कार्यरत थे तब संत पापा जॉन पौल द्वितीय ने उन्हें 22 दिसम्बर 1986 को सागर धर्मप्रांत का दूसरा धर्माध्यक्ष नियुक्त किया। उनका धर्माध्यक्षीय अभिषेक 22 फरवरी 1987 को हुआ। उन्होंने धर्मप्रांत को 19 वर्षों तक सेवा दी।

सेवा निवृत होने के बाद वे केरल के त्रिचूर जिला के कुट्टूर स्थित सागर मिशन होम, जेसु भवन चले गये थे। वे 60 वर्षों तक पुरोहित एवं 33 वर्षों तक धर्माध्यक्ष रहे।

18 February 2021, 16:11