खोज

Vatican News
संत जोसेफ संत जोसेफ   (©Adam Ján Figeľ - stock.adobe.com)

पाकिस्तानी कलीसिया द्वारा संत जोसेफ को घोषित 2021 वर्ष

संत पापा फ्राँसिस के नक्शेकदम पर, पाकिस्तानी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष ने घोषणा की है कि पाकिस्तान में कलीसिया वर्तमान वर्ष को संत जोसेफ के वर्ष के रूप में देखेगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

इस्लामाबाद, शनिवार 16 जनवरी 2021 (वाटिकन न्यूज) : पाकिस्तानी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (पीसीबीसी) ने घोषणा की है कि कलीसिया वर्ष 2021 को संत जोसेफ के वर्ष के रूप में समर्पित कर रही है। पीसीबीसी अध्यक्ष एवं इस्लामाबाद-रावलपिंडी धर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष जोसेफ अर्शाद ने 12 जनवरी को यूट्यूब चैनल आवे मारिया काथलिक टीवी पर एक वीडियो संदेश में उत्सव मनाने की घोषणा की।

वीडियो संदेश

पाकिस्तानी धर्माध्यक्षों ने संत पापा फ्राँसिस के नक्शेकदम पर इस पहल की शुरुआत की है, जिन्होंने 8 दिसंबर को एक प्रेरितिक पत्र "पात्रिस कोरदे" (एक पिता के दिल के साथ) जारी करते हुए संत जोसेफ वर्ष की घोषणा की, जो 8 दिसंबर 2020 से शुरू होकर 8 दिसम्बर 2021 को समाप्त होगी। धन्य पापा पियुस 9वें ने क्वेमदमोदुम देउस आज्ञप्ति पर 8 दिसम्बर 1870 को हस्ताक्षर कर संत जोसेफ को काथलिक कलीसिया के संरक्षक घोषित किया था। इस घोषणा के 150 साल को चिन्हित करते हुए संत पापा फ्राँसिस ने इस वर्षगाँठ को मनाने के लिए 8 दिसम्बर 2020 से 8 दिसम्बर 2021 को येसु के पालक पिता का विशेष वर्ष घोषित किया है।

परिवार और कलीसिया के रक्षक

अपने वीडियो संदेश में, महाधर्माध्यक्ष अर्शाद ने कहा "सालगिरह का जश्न, हमारे धर्मप्रांत में, 1 जनवरी 2021 को शुरू हुआ, ताकि हम संत जोसेफ को अधिक श्रद्धा दे सकें और अपना जीवन बदल सकें।" महाधर्माध्यक्ष अर्शाद ने संत जोसेफ की सराहना करते हुए उसे कोमल और प्यारा पिता बताया जिसने प्रेम से येसु और मरियम की देखभाल की थी। वह एक धर्मी व्यक्ति भी था, जो ईश्वर की इच्छा के प्रति वफादार था, जिसने हमारे उद्धार में योगदान दिया। उनका जीवन प्रेम और सादगी से भरा था।

उन्होंने कहा कि संत जोसेफ ने एक साधारण बढ़ई के रूप में कड़ी मेहनत की और अपने परिवार की देखभाल की ताकि ईश्वर द्वारा येसु को सौंपे गए कार्य को पूरा किया जा सके। "जैसा कि वे पवित्र परिवार के मुखिया और माता मरियम एवं येसु के रक्षक हैं,"वे कलीसिया, गरीब, जरूरतमंद और पीड़ित मानवता के रक्षक भी हैं।" महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "जैसा कि हम संत जोसेफ का वर्ष मना रहे हैं, माता-पिता और विशेष रूप से पिता की भूमिका हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। परिवार के पिता को अपने परिवार की देखभाल और सुरक्षा के लिए संत जोसेफ के नक्शेकदम पर चलने की जरूरत है।"

महाधर्माध्यक्ष अर्शाद ने प्रार्थना करते हुए अपने संदेश को अंत किया कि संत जोसेफ का वर्ष सभी लोगों के लिए और उनके परिवारों के लिए, साथ ही कलीसिया के लिए आशीर्वाद लाये।

16 January 2021, 13:31