खोज

Vatican News
नाइजीरिया में आतंकवादी नरसंहार के विरोध में प्रदर्शन नाइजीरिया में आतंकवादी नरसंहार के विरोध में प्रदर्शन  (AFP or licensors)

नाइजीरिया की रक्षा हेतु सरकार से अपील, महाधर्माध्यक्ष कागामा

अबूजा के महाधर्माध्यक्ष ने सैकड़ों अगवा किए गए स्कूली बच्चों और दो काथलिक पुरोहितों की रिहाई की खबर का स्वागत किया और नाइजीरियाई नागरिकों की सुरक्षा के लिए सरकार और अंतरराष्ट्रीय समुदाय की ओर से बढ़े हुए प्रयासों का आह्वान किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

अबूजा, शनिवार 19 दिसम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : उत्तर-पश्चिमी नाइजीरिया में पिछले सप्ताह अगवा किए गए सैकड़ों स्कूली बच्चों को मुक्त कर दिया गया है। पिछले हफ्तों में अगवा किए गए दो काथलिक पुरोहितों को भी आजाद कर दिया गया है।

राज्य के एक अधिकारी ने पुष्टि की कि 344 छात्र जो करीब एक हफ्ते से लापता थे, कात्सीना राज्य के एक माध्यमिक स्कूल पर हमले के बाद, गुरुवार देर रात नाइजीरियाई सेना द्वारा बचाया गया था और उनमें से किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचाया गया था।

 एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि लड़कों को कात्सीना राज्य की राजधानी में लाया गया है। यह स्पष्ट नहीं है कि अपहरण चरमपंथी बोको हराम के आतंकवादियों द्वारा किया गया था या फिर डाकुओं ने फिरौती मांगी थी।

वाटिकन रेडियो के फ्रांसेस्का सबतिनेली ने अबूजा के महाधर्माध्यक्ष इग्नासियुस कागामा से बातें की, जिन्होंने खुशखबरी का स्वागत किया। उन्होंने दो काथलिक पुरोहितों की मुक्ति के लिए भी राहत व्यक्त की: फादर मैथ्यू डाजो जिन्हें 10 दिनों के लिए बंदी बना लिया गया था और फादर वेलेंटाइन इज़ुगु को अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए जाते समय उसका अपहरण कर लिया गया था। बाद में उसे भी रिहा कर दिया।

महाधर्माध्यक्ष कागामा ने कहा, कि ये नाइजीरिया में अपहरण की नवीनतम श्रृंखलाएँ हैं, यहां अराजकता एक चिंताजनक "प्रवृत्ति" बन रही है।

उन्होंने कहा कि नाइजीरिया के लोग डर में रहते हैं: "मेरे पुरोहित का अपहरण रात 9 बजे किया गया, जब वह घर पर था", सड़क या जंगल में नहीं ... इसका मतलब है कि "यह जानबूझकर किया गया था और फिर वे उसे साथ लेकर भाग गए। ” अधिकारियों को कदम बढ़ाने की जरूरत है। यह शर्मनाक और दुखद है कि नाइजीरिया का समाचार हमेशा इन अपहरण और हत्याओं के बारे में ही रहता है।"

सरकार और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से अपील

महाधर्माध्यक्ष कागामा ने कहा, "हम अधिकारियों से जो आवश्यक है उसे करने की अपील करते हैं और हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं क्योंकि वे ही हमारे इष्टतम सुरक्षा हैं। हम मानव सुरक्षा पर निर्भर नहीं कर सकते हैं!"

उन्होंने कहा, "हम उम्मीद करते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय भी मदद करेगा।"

महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "राष्ट्र की स्थिति इतनी गंभीर है, कि हमें बोको हराम, अपहरणकर्ताओं, डाकुओं या उग्रवादी चरवाहों के साथ निपटने के लिए और इन आपराधिक गतिविधियों को समाप्त करने के लिए नाइजीरियाई अधिकारियों और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के ठोस प्रयास की आवश्यकता है। ताकि नाइजीरियाई लोग शांति से रह सकें। शांति और खुशी के साथ क्रिसमस मना सकें और शांति से अपना दैनिक जीवन जी सकें, यही हमारी प्रार्थना है।”

क्रिसमस के समारोहों के लिए चिंता

महाधर्माध्यक्ष कागामा ने कहा, "क्रिसमस का मौसम, एक ऐसा समय हो सकता है जिसमें अन्य हमले हो सकते हैं क्योंकि अपहरणकर्ता और डाकू स्वतंत्र रूप से काम करते हैं और कानून को अपने हाथों में लिये हुए हैं।"

उन्होंने कहा, "यदि पुरोहितों और बच्चों को उनके घरों से या स्कूलों से लिया जा सकता है, तो इसका मतलब है कि जब क्रिसमस के दिन विश्वासी पवित्र मिस्सा के लिए इकट्ठा होते हैं, तो कुछ भी हो सकता है,"

यह देखते हुए कि विश्वासियों पर हमले अतीत में हुए हैं, "पवित्र मिस्सा के दौरान निर्दोष लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई," उन्होंने कहा कि वे क्रिसमस समारोह के लिए चिंतित हैं, कुछ भी हो सकता है।

महाधर्माध्यक्ष ने कहा कि उत्सव लोगों को एक साथ लाता है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि सरकार को सक्रिय होने की जरूरत है और जो विश्वासी क्रिसमस समारोह मनाने के लिए एकत्रित होते हैं, उन्हें सरकार द्वारा सुरक्षा प्रदान करने की आवश्यकता है।

19 December 2020, 14:01