खोज

Vatican News
पेरिस का एक गिरजाघर पेरिस का एक गिरजाघर  (AFP or licensors)

फ्रेंच धर्माध्यक्षों द्वारा मिस्सा के यथार्थवादी उपायों की मांग

फ्रांस इस सप्ताहांत क्रिसमस की छुट्टियों से पहले अपने कोविद-19 लॉकडाउन को कम करना शुरू कर देगा। लेकिन एक बयान में, फ्रांसीसी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने पवित्र मिस्सा को फिर से शुरू करने से संबंधित उपायों पर निराशा व्यक्त की है और उन्होंने इस मामले पर स्पष्टीकरण की मांग की है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

पेरिस, गुरुवार 26 नवम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : कोरोनावायरस का सबसे बुरा दूसरा लहर का समाप्त हो गया है, फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मैक्रोन ने मंगलवार शाम को राष्ट्र को एक लिखित संबोधन दिया ।

लेकिन उन्होंने यह भी चेतावनी दी, "हमें तीसरे लॉकडाउन से बचने के लिए सब कुछ करना चाहिए।" इसे ध्यान में रखते हुए, उन्होंने कहा कि तीसरी लहर शुरू होने से बचने के लिए रेस्तरां, कैफे और बार 20 जनवरी तक बंद रहेंगे।

प्रतिबंधों में ढील

इस क्रमिक ढील का मतलब है कि 30 अक्टूबर को लगाए गए एक महीने के लॉकडाउन के बाद दुकानें शनिवार, 28 नवंबर से फिर से खुलेंगी।

दिसंबर के मध्य में, यदि नए मामलों की संख्या एक दिन में लगभग 5,000 तक गिर गई, तो लॉकडाउन को हटा दिया जाएगा और लोग क्रिसमस की अवधि में परिवार और दोस्तों को देखने के लिए देश भर में यात्रा करने के लिए स्वतंत्र होंगे। सिनेमाघरों और नृत्यशाला को भी फिर से खोलने की अनुमति दी जाएगी।

फ्रांस ने अबतक कुल 2,170,097 मामले दर्ज किए और 50, 618 लोगों की मौत हुई है।

कलीसिया की प्रतिक्रिया

हालांकि, नई व्यवस्था से हर कोई खुश नहीं है। फ्रांसीसी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने एक बयान में कहा कि अधिकतम 30 लोगों के साथ पवित्र मिस्सा समारोहों को फिर से शुरू करने की घोषणा "निराशाजनक और आश्चर्यजनक" थी।

बयान में कहा गया है कि इस मामले पर फ्रांसीसी राष्ट्रपति और धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष एरिक डी मौलिंस-ब्यूफोर्ट के बीच फोन पर बातें हुई थी। महाधर्माध्यक्ष ने मंगलवार शाम को ट्वीट किया कि काथलिकों की आवाज नहीं सुनी गई और सम्मेलन की मांग है कि उपाय को संशोधित किया जाए।

बुधवार को एक बयान में महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "ऐसा प्रतीत होता है कि एक यथार्थवादी, फिर भी सख्त माप दो चरणों में लागू करने के लिए गुरुवार सुबह तक परिभाषित किया जाएगाः शनिवार 28 नवंबर और फिर 15 दिसंबर के पुनर्मूल्यांकन के बाद।" "इस परिप्रेक्ष्य में ईएफसी (फ्रांसीसी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन) प्रधान मंत्री और आंतरिक मंत्री के साथ अपनी बातचीत जारी रखता है।"

प्रधानमंत्री जीन कैस्टेक्स प्रतिबंधों के क्रमिक उठाने से संबंधित इमानुएल मैक्रोन की घोषणा का विस्तार करने के लिए गुरुवार सुबह एक प्रेस ब्रीफिंग करेंगे।

इसलिए फ्रांस में पवित्र मिस्सा को फिर से शुरू करना निश्चित है, लेकिन इसे लागू करने का तरीका समायोजन के अधीन है।

26 November 2020, 14:42