Vatican News
कांग्रा में कोविद की जाँच कांग्रा में कोविद की जाँच  (ANSA)

मजदूर दिवस पर अमेरिकी बिशप: गरीबों के साथ एकजुटता का अभ्यास करें

घरेलू न्याय एवं मानव विकास पर यूएससीसीबी के अध्यक्ष एवं ओक्लाहोमा सिटी के महाधर्माध्यक्ष पॉल कोकले श्रम दिवस के अवसर पर दिए एक बयान में गरीबों और एकजुटता, करुणा और समानता का आह्वान किया और अमेरिका वासियों को कोविद -19 महामारी के विनाश के बाद एक बेहतर समाज के पुनर्निर्माण हेतु प्रोत्साहित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

ओक्लाहोमा, सोमवार 07 सितम्बर 2020 (वाटिकन न्यूज) : अमेरिकी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के घरेलू न्याय और मानव विकास समिति के अध्यक्ष, महाधर्माध्यक्ष पॉल कोक्ले ने वार्षिक श्रम दिवस के अवसर पर दिये अपने बयान में महामारी के बाद दुनिया के पुनर्निर्माण के लिए एकजुटता, श्रमिकों की गरिमा के लिए सम्मान एवं उदारता के साथ गरीबों की मदद करने हेतु प्रोत्साहित किया है।

महाधर्माध्यक्ष कोकले ने कहा, "यह श्रमिक दिवस बहुत ही सुखद है।" “हम सभी कोविद-19 महामारी से संघर्ष कर रहे हैं। बहुत सारे परिवारों की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं हैं। लाखों लोगों को काम से निकाल दिया गया हैं और वे चिंतित हैं कि वे बिलों का भुगतान कैसे कर पायेंगे। कुछ श्रमिकों को जरुरी काम करने के लिए अपने घरों से बाहर जाना ही पड़ता है और इस तरह उन्हें वायरस के संपर्क में आने का खतरा है।"

2 सितंबर को जारी संदेश में महाधर्माध्यक्ष कोकले ने कहा, “ईश्वर की छवि और समानता में बनाए गए मानव व्यक्ति की गरिमा हमारे समाज के केंद्र में नहीं है जिस तरह से होना चाहिए। कुछ कार्यस्थलों में, लोगों की गरिमा और सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया जाता है परंतु मुनाफे पर बहुत ज्यादा ध्यान रहता है। यह अन्यायपूर्ण है। ”

स्वास्थ्य संकट से पहले भी चुनौतियां

महाधर्माध्यक्ष कोकले ने कहा कि महामारी से पहले  भी अनेक चुनौतियाँ थी।  महामारी से पहले भी एक बड़ी संख्या में अमेरिकियों को कम मजदूरी में काम करना पड़ता था। भोजन, आवास और स्वास्थ्य देखभाल असुरक्षा के साथ उन्हें जीवन बिताना पड़ता है।"

महाधर्माध्यक्ष कोकले ने कहा, "इस पृष्ठभूमि के खिलाफ, जॉर्ज फ्लोयड की हत्या गैस से भरे कमरे में माचिस की एक तिल्ली जलाने करने की तरह थी।" संत पापा फ्राँसिस ने 2013 में अपनी प्रेरितिक उद्बोधन ‘एवांजली गौडियम’ में  बहिष्करण और असमानता की अर्थव्यवस्था को नहीं करने की मांग की है।  

अन्याय अंतिम शब्द नहीं है

संत पापा फ्रांसिस की नई किताब "लाइफ आफ्टर द पांडेमिक" का हवाला देते महाधर्माध्यक्ष कोकले ने उम्मीद जताई कि "इस बंजर भूमि में, प्रभु सुंदरता और आशा के पुनर्जन्म के लिए प्रतिबद्ध है ... ईश्वर कभी भी अपने लोगों को  नहीं छोड़ते, वे हमेशा उनके करीब रहते हैं," खासकर जब वे दर्द और कठिनाई का सामना कर रहे हों।”  प्रकाशना ग्रंथ और भविष्यवक्ता इशायाह कहते हैं कि प्रभु "कुछ नया कर रहे हैं।" (प्रका. 21: 5, इसा. 43:19)।

महाधर्माध्यक्ष कोकले ने पुष्टि की, "अच्छी खबर यह है कि अन्याय को अंतिम शब्द मानने की आवश्यकता नहीं है, प्रभु हमें पापों से मुक्त करने आये, उन पापों से जिसके द्वारा हम श्रमिकों और खुद की गरिमा को खतम कर देते हैं।"

ठोस सुझाव

महाधर्माध्यक्ष कोकले ने कहा कि काम की गरिमा और श्रमिकों के अधिकारों की रक्षा करने के लिए हमें एकजुटता का अभ्यास करने की आवश्यकता है।" हम इस दौरान स्थानीय खाद्य बैंकों और काथलिक उदार संस्थाओं को दान देकर उन बेरोजगारों की आर्थिक सहायता प्रदान कर सकते हैं।

महाधर्माध्यक्ष कोकले ने कहा हम खुद से पूछें,जब हम दुकानों से सामान खरीदते हैं या ऑनलाइन: क्या हम जानते हैं कि वे कहाँ से आते हैं? क्या हम जानते हैं कि उन्हें बनाने वाले लोगों के साथ गरिमा और सम्मान के साथ व्यवहार किया गया था? क्या महामारी के दौरान कार्यस्थल को सुरक्षित बनाया गया था और क्या श्रमिकों को उचित मजदूरी मिली थी? यदि नहीं, तो हम इसका क्या उपाय कर सकते हैं? ”

महाधर्माध्यक्ष कोकले ने कहा, "आइए हम ईश्वर से प्रार्थना करें कि हमारे समाज में जो गहरा घाव है, उसे ठीक करने के लिए ईश्वर के कार्य में भाग लें सकें।" "इस श्रम दिवस के दिन पवित्र मिस्सा का स्तोत्र ग्रंथ के पद हमारे हृदय में गूँजती रहे: ʺप्रभु मुझे अपने धर्ममार्ग पर ले चल।ʺ (स्तोत्र 5: 9)

श्रमिक दिवस

हर साल, श्रमिक आंदोलनों के सम्मान में और देश के विकास में मजदूरों के सामाजिक और आर्थिक योगदान को मान्यता देने के लिए, संयुक्त राज्य अमेरिका में मजदूर दिवस सितंबर के पहले सोमवार को एक राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाया जाता है।

07 September 2020, 14:25