खोज

Vatican News
संत जॉन मरिया वियेन्नी संत जॉन मरिया वियेन्नी  

अगस्त में आर्स और लूर्द का दौरा करेंगे कार्डिनल पारोलिन

वाटिकन राज्य सचिव संत जॉन वियेन्नी के पर्व दिवस पर आर्स की यात्रा का करेंगे और लूर्द में माता मरियम के स्वर्ग उद्ग्रहण का समारोही मिस्सा का अनुष्ठान करेंगे।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 3 अगस्त 2020 ( वाटिकन न्यूज) : जुलाई की शुरुआत में, आर्स में सेंट जॉन वियेन्नी तीर्थालय के रेक्टर फादर पैट्रिक चोकोल्स्की  ने वाटिकन राज्य सचिव कार्डिनल पियेत्रो पारोलिन के 4 अगस्त की यात्रा की पुष्टि की थी।

कार्डिनल परोलिन ने 10:00 बजे पवित्र मिस्सा समारोह का अनुष्ठान करने और दोपहर 3:00 बजे एक सम्मेलन में संदेश देने हेतु निमंत्रण को स्वीकार कर लिया। सम्मेलन के लिए चुना गया विषय है, "संत पापा फ्राँसिस और पुरोहित:ईश्वर के लोगों के साथ चलते हैं।"

मार्च के प्रारंभ में कोरोना वायरस लॉकडाउन शुरू होने के बाद से यह इटली के बाहर कार्डिनल की पहली यात्रा है।

पुरोहितों के लिए प्रोत्साहन

वाटिकन न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में, फादर चोकोल्स्की ने बताया कि इस अवसर के लिए कार्डिनल पारोलिन की उपस्थिति संत पापा फ्राँसिस द्वारा संत जॉन वियेन्नी की मृत्यु की 160 वीं वर्षगांठ पर पुरोहितों को पत्र लिखने के ठीक एक साल बाद आती है। उस पत्र में संत पापा फ्राँसिस ने "हमें एक अलग शैली के माध्यम से आज के पुरोहित बनने हेतु प्रोत्साहित किया।" उन्होंने कहा कि पुरोहितों को "मसीह का प्रतिरुप बनने" के उदाहरण के रूप में संत जॉन वियेन्नी को देखने की आवश्यकता है। वे पुरोहितों के "प्रेरणा स्रोत" हैं।

“मुझे यकीन है कि राज्य सचिव आज हमें एक बार फिर संत पापा फ्राँसिस की भावना में, हमारे मिशन की सुंदरता को जीने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। संत  पापा फ्राँसिस चाहते हैं कि हम इस खूबसूरत मिशन को जीएं, जो हमें प्रभु और कलीसिया के आह्वान के माध्यम से मिला है।”

फादर चोकोल्स्की ने बताया कि कार्डिनल पारोलिन द्वारा सम्मेलन में दिया गया संदेश और अन्य कार्यक्रम तीर्थालय के फेसबुक पेज पर लाइव स्ट्रीम किया जाएगा।

कार्डिनल एमिल बियांडे पथ

इसके अलावा मंगलवार को, कार्डिनल पारोलिन तीर्थालय के भीतर ही ब्राज़ाविल के दिवंगत महाधर्माक्ष्यक्ष कार्डिनल एमिल बियांडे के नाम एक पथ का उद्घाटन करेंगे। 1977 में महाधर्माध्यक्ष की मृत्यु हो गई और उनके संत घोषणा का प्रकरण प्रगति पर है। आर्स तीर्थालय के साथ उनका संबंध तब शुरू हुआ जब वे काथलिक यूनिवर्सिटी ऑफ लियोन में एक छात्र थे। वे अक्सर संत जॉन वियेन्नी की आध्यात्मिकता में खुद को डुबोने हेतु बारंबार आते थे।  कांगो लौटने के बाद, वे फ्रांस की यात्रा के दौरान हर बार आर्स के तीर्थालय का दर्शन किया करते थे। वे संत जॉन वियेन्नी की आध्यात्मिकता से गहराई से प्रेरित थे।

फादर चोकोल्स्की ने कहा, “महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल एमिल बियांडे को समर्पित पथ का उद्घाटन दर्शाता है कि कैसे संत की आध्यात्मिकता आज भी प्रेरणा दे सकती है। यहां तक कि दुनिया में हमारी विभिन्न संस्कृतियों के साथ हमारी सदी में भी, एक पल्ली पुरोहित के रूप में संत जॉन वियेन्नी की गहरी आध्यात्मिकता जीने का एक तरीका है।"

लूर्द की यात्रा

राज्य सचिव के रूप में उनकी नियुक्ति के बाद, कार्डिनल पारोलिन लूर्द में मरियम तीर्थालय का तीसरी बार दौरा करेंगे। फरवरी 2017 में पहली यात्रा में उन्होंने ‘बीमारों के विश्व दिवस’ पर  संत पापा फ्राँसिस का प्रतिनिधित्व किया था। लगभग एक साल बाद, काथलिक मीडिया कर्मियों को समर्पित अंतर्राष्ट्रीय संत फ्रांसिस डी सेल्स दिवस पर संदेश देने लूर्द आये थे।

उनकी तीसरी यात्रा 15 अगस्त के दिन माता मरियम के स्वर्ग आरोहण पर्व का पवित्र युखरिस्त समारोह को अनुष्ठान करेंगे। इस अवसर पर असेम्पशन पुरोहितों द्वारा 147 वें राष्ट्रीय तीर्थयात्रा आयोजित की गई है।

जगह-जगह कोविद -19 प्रतिबंध के कारण, बीमारों की उपस्थिति के बिना उत्सव मनाया जाएगा। हालाँकि, वे शारीरिक रुप से मौजूद नहीं होंगे परंतु आध्यात्मिक रूप से और इंटरनेट के माध्यम से समारोह में भाग ले सकते हैं।

03 August 2020, 13:57