खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर 

कार्डिनल तेलेस्फोर टोप्पो का नया निवास संत अन्ना वृद्धाश्रम में

राँची के ससम्मान सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल तेलेस्फोर पी. कार्डिनल टोप्पो 2 जुलाई को उल्हातु के संत अन्ना वृद्धाश्रम ले जाये गये।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

राँची, शनिवार, 4 जुलाई 2020 (वीएन हिन्दी) –राँची महाधर्मप्रांत द्वारा 3 जुलाई को जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि राँची के महाधर्माध्यक्ष तेलेस्फोर टोप्पो 24 जून 2018 को सेवा निवृत हुए थे, उसके बाद उन्हें 1 सितम्बर 2018 को दिव्य माता लघु बसिलिका उल्हातु में आराम करने के लिए रखा गया था। महागिरजाघर निर्माण का स्वप्न स्वयं उन्होंने देखा था और उसे पूरा भी किया। उन्होंने वहाँ रहने की इच्छा भी जाहिर की थी। अतः फादर किशोर टोप्पो एवं सिस्टर इम्माकुलाता कुल्लू डीएसए की देखरेख में उन्हें वहीं रखा गया था।

वृद्धावस्था के कारण आवश्यकता पड़ने पर महाधर्माध्यक्ष फेलिक्स टोप्पो एवं सहायक धर्माध्यक्ष थेओदोर मस्करेनहास ने श्री राहुल कुमार को उनकी देखभाल की पूरी जिम्मेदारी दी थी।

कार्डिनल टोप्पो की स्थिति पर ध्यान देते हुए, उनके स्वास्थ्य के लिए अधिक देखभाल की आवश्यक महसूस की गई तथा राँची के धर्माध्यक्षों ने उन्हें वहाँ से करीब 25 मीटर की दूरी पर स्थित संत अन्ना वृद्धाश्रम में रखने का विचार किया। इस वृद्धाश्रम का उद्घाटन स्वयं कार्डिनल टोप्पो ने 2016 में किया था।

संत अन्ना वृद्धाश्रम उल्हातु का संचालन संत अन्ना की पुत्रियों के धर्मसंघ राँची द्वारा किया जाता है। 2 जुलाई को राँची के महाधर्माध्यक्ष फेलिक्स टोप्पो, सहायक धर्माध्यक्ष  थेओदोर, उल्हातु के पल्ली पुरोहित फादर मक्सिमुस टोप्पो, राँची महाधर्मप्रांत के सेक्रेटरी फादर सुशील टोप्पो के साथ ससम्मान सेवानिवृत कार्डिनल तेलेस्फोर टोप्पो ने अपने नये निवास में प्रवेश किया। वृद्धाश्रम में रहते हुए कार्डिनल की देखभाल की जिन्मेदारी फादर प्रदीप तिरकी को दी गई है जो धर्मबहनों के साथ मिलकर उसे पूरा करेंगे।  

संत अन्ना वृद्धाश्रम में कार्डिनल टोप्पो का स्वागत करने के लिए मदर जेनेरल सिस्टर लिंडा मेरी वॉन, संत अन्ना अस्पताल एवं वृद्धाश्रम की निदेशिका सिस्टर जसिंता और फादर प्रफुल तिग्गा उपस्थित थे।   

04 July 2020, 12:59