Vatican News
ब्राजील के जनजातीय कोविद-19 का टेस्ट कराते हुए ब्राजील के जनजातीय कोविद-19 का टेस्ट कराते हुए  (ANSA)

सीइएलएएम द्वारा अमेजन क्षेत्र की नई कलीसियाई सम्मेलन की घोषणा

लैटिन अमेरिका के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीइएलएएम) और पान-अमेजोनियन एक्लेसियल नेटवर्क (आरइपीएएम) के अध्यक्ष ने अमेजन क्षेत्र में धर्माध्यक्षीय धर्मसभा कराने के उद्देश्य से अमेज़न क्षेत्र की कलीसियाई सम्मेलन की घोषणा की।

कैरोस, बुधवार 1 जुलाई 2020 (वाटिकन न्यूज) : अमेज़न क्षेत्र के लिए कलीसियाई सम्मेलन के निर्माण की खबर 29 जून, संत पेत्रुस और संत पौलुस के पर्व दिवस पर सीएलएएम के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष मिगुएल काबरेजोस विडार्ट और पान-अमेजोनियन एक्लेसियल नेटवर्क के अध्यक्ष कार्डिनल क्लॉडियो हम्म्स द्वारा हस्ताक्षरित एक बयान में आती है।

कैरोस के लिए आशा

जारी बयान में बताया गया कि कलीसियाई सम्मेलन के गठन का निर्णय 26-29 जून 2020 तक वर्चुअल सम्मेलन के दौरान किया गया था।

यह सम्मेलन ... कैरोस की उस उम्मीद का हिस्सा है जो कलीसिया के लिए और अमेज़ॅन क्षेत्र में एक अभिन्न पारिस्थितिकी के लिए", नए रास्ते खोलने हेतु धर्मसभा यात्रा को आगे बढ़ाता है।

बयान में, धर्माध्यक्षों ने संत पापा फ्राँसिस की इस नई कलीसियाई इकाई के निर्माण की पूरी प्रक्रिया को रेखांकित करते हैं, "हमारी कलीसिया का समारोह संत पापा फ्राँसिस की सेवा के लिए धन्यवाद का एक संकेत भी है। हम नई धर्माध्यक्षीय धर्मसभा के निर्माण पर विचार करते हैं जिसे संत पापा फ्राँसिस ने इस पूरी प्रक्रिया को करीब से देखा है।”

एकता और धर्मसभा

बयान में कहा गया है, "सम्मेलन की रचना कलीसिया की एकता में उसकी विविधता, साथ ही एक बड़ी धर्मसभा के लिए उसकी पुकार" को भी दर्शाती है । एकता को "परमधर्मपीठ के महत्वपूर्ण प्रतिनिधियों की उपस्थिति और स्थायी सहयोग द्वारा भी व्यक्त किया जाता है, जो अमेज़न क्षेत्र के धर्माध्यक्षों की धर्मसभा की मजबूत निकटता और इस क्षेत्र में कलीसिया के मिशन है।

असेंबली के सदस्यों द्वारा सर्वसम्मति से "अमेज़न क्षेत्र का कलीसियाई सम्मेलन"; नाम पर, साथ ही इसकी पहचान, रचना और क़ानून पर भी सहमति ली गई।

अध्यक्ष और उपाध्यक्ष

सम्मेलन ने "अमेजन क्षेत्र के कलीसियाई सम्मेलन के नये अध्यक्ष के रूप में ब्राजील के कार्डिनल क्लाउदियो ह्युम्स, ओएफएम और उपाध्यक्ष के रूप में पेरु के धर्माध्यक्ष डेविड मार्टिनेज डे अगुइरे, ओपी का चुनाव किया।

क्षेत्र की समस्याएँ

अंत में, धर्मध्यक्षों ने बयान में लिखा कि अमेज़ॅन क्षेत्र के कलीसियाई सम्मेलन का निर्माण लैटिन अमेरिका के सामने आने वाले कई खतरों, जैसे कि कोरोना वायरस महामारी, हिंसा, बहिष्कार और वहाँ के जनजातीय लोगों के खिलाफ मौत की वास्तविकताओं पर प्रतिक्रिया करने के लिए हुआ है।

01 July 2020, 14:07