खोज

Vatican News
गुवाहाटी में भोजन बांटते हुए स्वंसेवक गुवाहाटी में भोजन बांटते हुए स्वंसेवक   (ANSA)

कोविद -19 लॉकडाउन में मुम्बई महाधर्मप्रांत की प्रतिक्रियाएँ

भारत में कोविद -19 महामारी के प्रसार को रोकने और गरीबों एवं जरूरतमंदों तक पहुंच बनाने में मदद करने के लिए मुम्बई महाधर्मप्रांत अधिकारियों को सहयोग दे रही है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

मुंबई, शनिवार 25 अप्रैल 2020 (वाटिकन न्यूज) : भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीबीसीआइ) के अध्यक्ष, मुम्बई महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल ओसवाल्ड ग्रेसियस ने अप्रैल के पहले सप्ताह में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा, जिसमें कोदिद-19 वायरस के प्रसार को रोकने और बामारी को समाप्त करने के राष्ट्र के प्रयास में भारतीय कलीसिया के पूर्ण समर्थन और सहयोग की पेशकश की गई थी। ।

अधिकारियों को सहयोग

प्रधान मंत्री मोदी ने स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस किया, जिसमें कलीसिया के विभिन्न प्रतिनिधि, मुख्य रूप से कारितास इंडिया के निदेशक और काथलिक हेल्थ एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीएचएआइ) के महानिदेशक शामिल थे।

24 मार्च को मोदी सरकार ने 21 दिन के राष्ट्रव्यापी बंद का आदेश दिया। कोविद -19 के प्रसार के खिलाफ एक निवारक उपाय के रूप में देश की 1.3 बिलियन आबादी को प्रतिबंधित किया गया।

2 अप्रैल, 2020 को, प्रधान मंत्री कार्यालय ने प्रवासी श्रमिकों की स्थिति पर चर्चा करने के लिए एक और वीडियो कॉन्फ्रेस आयोजित किया। कॉन्फ्रेंस में कार्डिनल ओसवाल्ड ग्रेसियस ने भी भाग लिया और मुंबई शहर के अधिकारियों के साथ लॉकडाउन में फंसे हुए प्रवासी श्रमिकों की तत्काल सहायता प्रदान करने के बारे में चर्चा की।

मुंबई महाधर्मप्रांत

मुंबई, 12 मिलियन से अधिक लोगों का शहर भारत की वित्तीय, वाणिज्यिक और मनोरंजन राजधानी है। यह दैनिक वेतन भोगियों और प्रवासियों की एक बड़ी संख्या को आजीविका का साधन प्रदान करता है। मुंबई महाधर्मप्रांत हजारों प्रवासी मजदूरों को भोजन और आवास प्रदान कर रहा है। जो 24 मार्च से लॉकडाउन के कारण काम पर नहीं जा पा रहे हैं।

महाधर्मप्रांत के प्रवक्ता फादर निगेल बर्रेट ने कहा, "महाधर्मप्रांत की 124 पल्लियाँ अपने क्षेत्र के जरूरतमंद लोगों को भोजन प्रदान किये जा रहे हैं। करीब 7 हजार लोगों को प्रतिदिन दो बार भोजन प्रदान किया जा रहा है।" महाधर्मप्रांत ने रायगढ़, ठाणे और मुंबई जैसे जिलों में संगठन के नेटवर्क के माध्यम से भी आदिवासियों एवं दिहाड़ी मजदूरों तक पहुँचने की कोशिश की है और करीब 5 हजार परिवारों एवं 1 लाख लोगों को मदद मिली है।

उन्होंने कहा कि महामारी ने उन्हें भोजन वितरण में "अत्यधिक सावधानी और एहतियात" बरतते हुए स्थानीय सरकारी अधिकारियों के साथ सहयोग कर रहे हैं।

अब तक भारत में कोविद -19 मामलों की कुल संख्या 775 मौतों के साथ 24,506 मामलों की पुष्टि हो गई। देश के 28 राज्यों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में सबसे अधिक कोरोना वायरस मामलों की संख्या महाराष्ट्र में है अबतक 6817 मामले दर्ज  किये गये हैं और 301 मौतों की पुष्टि की है।

25 April 2020, 14:38