खोज

Vatican News
वाटिकन में यूरोपीय  काथलिक धर्माध्यक्ष, तस्वीर- 14 सितम्बर 2019 वाटिकन में यूरोपीय काथलिक धर्माध्यक्ष, तस्वीर- 14 सितम्बर 2019 

यूरोप की चुनौतियाँ हमारी चुनौतियाँ, यूरोपीय धर्माध्यक्ष

यूरोपीय संघीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव फादर मानुएल बारियोस का कहना है कि यूरोप के समक्ष प्रस्तुत चुनौतियाँ समस्त यूरोपीय नागरिकों की चुनौतियाँ हैं।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

ब्रसल्स, शुक्रवार, 6 मार्च 2020 (रेई, वाटिकन रेडियो): यूरोपीय संघीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव फादर मानुएल बारियोस का कहना है कि यूरोप के समक्ष प्रस्तुत चुनौतियाँ समस्त यूरोपीय नागरिकों की चुनौतियाँ हैं।

इस वर्ष यूरोपीय संघ के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की 40 वीँ वर्षगाँठ मनाई जा रही है। वाटिकन रेडियो से बातचीत में फादर बारियोस ने कहा कि धर्माध्यक्षीय सम्मेलन 40 वर्ष पूर्व परिभाषित अपने मिशन के प्रति सत्यनिष्ठ रही है।

यूरोप में काथलिक कलीसिया का मिशन

फादर बारियोस ने बताया कि 40 वर्ष पूर्व सम्मेलन की आधारशिला ब्रसल्स में रखी गई थी, जिसका उद्देश्य यूरोपीय संस्थाओं के साथ सम्वाद को बरकरार रखते हुए यूरोप में काथलिक कलीसिया की उपस्थिति को साकार करना था। उन्होंने कहा कि विगत चालीस वर्ष के दौरान यूरोपीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने कलीसिया की संवेदनशीलता, चिन्ताओं, उत्कंठाओं और मानव जीवन सम्बन्धी अहं मुद्दों को आवाज़ प्रदान की है।

 पर्यावरण की सुरक्षा, आप्रवासी

फादर बारियोस ने कहा कि यह याद रखा जाना चाहिये कि यूरोपीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की चुनौतियाँ सम्पूर्ण यूरोप की चुनौतियाँ हैं तथा यूरोप की चुनौतियाँ एवं समस्याएँ धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की। इन चुनौतियों में उन्होंने पर्यावरण सम्बन्धी चुनौती को गिनाया और कहा कि पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन सम्बन्धी समस्या हम सबके सामान्य धाम की समान समस्या है। दूसरी चुनौती उन्होंने कहा, आप्रवासियों एवं शरणार्थियों की बढ़ती संख्या है, जो, उन्होंने कहा, कलीसिया के लिये एक महत्वपूर्ण मुद्दा है, इसलिये कि कलीसिया का मिशन मानव व्यक्ति की प्रतिष्ठा के सम्मान का प्रचार करना है।  

06 March 2020, 11:29