खोज

Vatican News
बुर्किना फासो में तनाव बुर्किना फासो में तनाव  (AFP or licensors)

बुर्किना फासो एवं कैमरून पर हमले की डब्ल्यू सीसी ने निंदा की

कलीसियाओं के विश्व परिषद (डब्ल्यू सीसी) ने बुर्किना फासो एवं कैमरून में हाल में हुए हिंसक हमले की कड़ी निंदा की है। हमले में बुर्कि्ना फासो के 24 लोग और कैमरून के 5 लोग मारे गये थे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार, 19 फरवरी 2020 (वीएन)˸ कैमरून में 14 फरवरी एवं बुर्किना फासो में 16 फरवरी को हुए हिंसक हमले के मद्देनजर कलीसियाओं के विश्व परिषद के महासचिव डॉ. ओलाव फैकसे वेइत ने सोमवार को हमले की निंदा की एवं निर्दोष लोगों की हिंसा को समाप्त करने का आह्वान किया।  

डॉ. ओलाव ने कहा, "मैं अत्यन्त दुःखी हूँ कि पूजा में उपस्थित लोगों को घृणा के ऐसे मूर्खतापूर्ण कृत्यों से पीड़ित होना पड़ रहा है। हम हिंसा के इस मूर्खतापूर्ण कृत्य की निंदा करते हैं। आइये, हम सभी लोगों के लिए शांति एवं न्याय, प्रतिष्ठा एवं स्वतंत्रता के संकल्प को मजबूत करें ताकि सभी खुलकर जी सकें।  

यूएन के अनुसार, कैमरून के उत्तर-पूर्वी गाँव एनतुम्बो में 14 फरवरी को 22 लोग जिनमें 14 बच्चे भी शामिल थे, हथियारबंद लोगों द्वारा मार डाले गये। तब से, कम से कम 600 ग्रामीण इस क्षेत्र से भाग गए हैं। हाल के महीनों में, हिंसा बढ़ने के कारण अनुमानित 60,000 कैमरून वासी नाइजीरिया पलायन कर चुके हैं।

गिरजाघरों में हमला

16 फरवरी को जिहादी आतंकवादियों ने बुर्किना फासो के याहग्हा प्रांत के प्रोटेस्टंट गिरजाघर पर हमला किया जिसमें 24 लोग मारे गये एवं 18 लोग घायल हो गये।

हालिया हमला सेब्बा शहर में ख्रीस्तीय प्रार्थना सभा के दौरान सात लोगों के अपहरण के छः दिनों बाद हुआ है। अपहरण के तीन दिनों बाद उनमें से पाँच, जिनमें पास्टर भी शामिल थे उनका मृत शव पाया गया था जबकि दो जान बचाकर भाग गये थे।  

अपने संदेश में डब्ल्यू सी सी के महासचिव ने कैमरून एवं बुर्किना फासो के समुदायों के प्रति अपनी सहानुभूति एवं सामीप्य व्यक्त किया है तथा डब्ल्यू सी सी के सदस्यों को प्रोत्साहन दिया है कि वे उनके लिए प्रार्थना करें।  

उन्होंने कहा, "हिंसा के ये कृत्य हमारे मानव परिवार पर हमला है और हमें एकजुट होकर न्याय एवं शांति के लिए कार्य करना है।"

19 February 2020, 16:36