खोज

Vatican News
माल्टा में संत पापा की प्रेरितिक यात्रा का प्रतीक चिन्ह माल्टा में संत पापा की प्रेरितिक यात्रा का प्रतीक चिन्ह 

पोप की माल्टा यात्रा, आप्रवासियों व घायलों के प्रति प्रतिबद्धता

माल्टा की काथलिक कलीसिया ने संत पापा फ्राँसिस की 31 मई (पेंतेकोस्त रविवार) को प्रेरितिक यात्रा का प्रतीक चिन्ह एवं आदर्शवाक्य प्रकाशित कर दिया है। एक विडीयो संदेश में माल्टा के महाधर्माध्यक्ष चार्ल्स शिक्लुना ने इस यात्रा के महत्व पर प्रकाश डाला है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

माल्टा, मंगलवार, 11 फरवरी 2020 (रेई)˸ माल्टा में संत पापा फ्राँसिस की प्रेरितिक यात्रा को माल्टा के महाधर्माध्यक्ष, वहाँ की सरकार एवं माल्टा वासियों ने सहर्ष स्वीकार किया।  

माल्टा में संत पापा की यात्रा की विषयवस्तु है, "वहाँ के निवासियों ने हमारे साथ बड़ा अच्छा व्यवहार किया।" (प्रे.च. 28, 2)

एक वीडियो संदेश में माल्टा के महाधर्माध्यक्ष चार्ल्स शिक्लुना ने उस उदारता पर प्रकाश डाला है जिसमें पौलुस एवं उनके साथियों को जहाज टूटने पर द्वीप के निवासियों द्वारा स्वागत किया गया था।

उन्होंने कहा, "मैं संत पौलुस के इस द्वीप में संत पापा फ्राँसिस का स्वागत करना और 2020 के जनवरी माह में इस पाठ पर दिये सुन्दर चिंतन के लिए उन्हें धन्यवाद देना चाहूँगा।"  

प्रतीक चिन्ह में दर्शाया गया है कि हमें एक-दूसरे का स्वागत करना है, एक दूसरे को क्षमा करना है एवं आप्रवासी जो सुरक्षित स्थल एवं मानव प्रतिष्ठा की खोज में हमारे द्वीप का द्वार खटखटाते हैं उनका स्वागत करना है।  

माल्टा में संत पापा की यात्रा पर महाधर्माध्यक्ष शिक्लिना

महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "यद्यपि एक छोटे राष्ट्र के लिए यह एक बड़ा आदेश है तथापि यात्रा को हम घायलों को चंगा करने के रूप में लेंगे।" उन्होंने कहा कि वे भूमध्यसागर में आप्रवासियों के लिए सुरक्षित स्थान प्रदान करेंगे। "मालाट" जिससे माल्टा शब्द बना है प्राचीन समुद्री-यात्रा वाले फोनीशियन लोगों की संस्कृति और भाषा में इसका अर्थ है सुरक्षित आश्रय। महाधर्माध्यक्ष ने कहा कि येसु ख्रीस्त के नाम पर हमें वैसा ही बनना है।  

माल्टा में संत पापा फ्राँसिस की आगामी यात्रा, संत पापाओं की चौथी यात्रा होगी। संत पापा जॉन पौल द्वितीय ने माल्टा की यात्रा 1990 और 2001 में दो बार की थी। उसके बाद संत पापा बेनेडिक्ट 16वें ने 2010 में माल्टा की यात्रा की थी।  

माल्टा के प्रधानमंत्री रोबर्ट अबेला ने कहा कि संत पापा की यात्रा स्मरण दिलाता है कि आकार में छोटा होने पर भी माल्टा को विश्व के नेताओं का सम्मान प्राप्त है।

उन्होंने गौर किया कि समुदाय की मदद करना, सहिष्णुता का भाव रखना एवं नागरिकों के अधिकारों का ख्याल रखना, ये सभी मुद्दे संत पापा फ्राँसिस के हृदय के करीब हैं जिनको उनकी सरकार महत्व देती है।  

 

11 February 2020, 16:33